Business कैसे शुरू करें? पूरी जानकारी हिंदी में

दोस्तों, अगर आप भी उन लोगों में शामिल हैं, जो नौकरी करने के बजाय अपना खुद का बिज़नेस शुरू (Business Start) करना चाहते हैं। और आप उन लोगों से नफरत करते हैं जो कहते हैं कि Business करना आपके वस की नहीं है। इसके लिए, एक व्यवसायी परिवार में जन्म लेना होता है। तभी आप बहुत सारा पैसा कमा सकते हैं। मतलब कारोबार खून में होता है। लेकिन ऐसा नहीं है। अगर आप भी एक सफल व्यवसायी (Successful Business) बनना चाहते हैं और अपने Business Idea पर खुलकर काम करना चाहते हैं, तो हमारा यह लेख आपके व्यवसाय (Business) को शुरू करने में बहुत मददगार साबित होने वाला है।

इस ब्लॉग लेख में, हम सीखेंगे कि अपना नया Business कैसे शुरू करें। हम आपको मुख्य बिंदुओं के बारे में बताएंगे जिन्हें अपनाने के बाद आप निश्चित रूप से एक सफल व्यवसायी बन सकते हैं। यदि आप एक सफल व्यवसायी बनना चाहते हैं, तो नीचे दिए गए सभी बिंदुओं को ध्यान से पढ़ें। ये सभी प्रमुख बिंदु निश्चित रूप से आपको एक सफल व्यवसायी बनाने में लाभदायक साबित होंगे।

बिज़नेस रुचि (Business Interest)

दोस्तों, किसी भी Business को शुरू करने से पहले, आपके लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि आपकी रुचि क्या है। आपको क्या अच्छा लगता है और किस काम को करने में सबसे ज्यादा ख़ुशी मिलती हैं। साथ ही आपको यह जानना भी बहुत जरूरी है कि आप किस काम में ज्यादा एक्सपर्ट हैं। आपको एक ऐसे बिज़नेस को चुनना होगा जिसके लिए आप एक दम तैयार है।

आपके दिल और दिमाग में यह बात एक दम स्पष्ट होना चाहिए की आप इस Business को बेहतर तरीके से कर सकते है। आप जिस काम को घंटो तक बिना थके कर सकते है। यानि हमारा मतलब है आप उस काम में खो जाते है।

आप जिस काम में अपना समय, पैसा और ध्यान दे सकते हैं। वही काम आपके लिए एक दम परफेक्ट बिज़नेस (Perfect Business) है। और जब आप यह मान लेते है की यह काम आपके लिए सही है तब बिज़नेस शुरू करने से पहले निचे दिए गए टिप्स को जरूर अपनाये।

यदि आप कम इन्वेस्ट करके बिज़नेस शुरू करना चाहते है, तो आपको हमारा यह लेख “Top 10-Best Small Business Ideas in Hindi- कम लागत मुनाफा ज्यादा” अवश्य पढ़ना चाहिए।

बिजनेस के लिए मार्किट रिसर्च (Market Research to Business)

अपने Business से रिलेटेड फील्ड चुन लेने के बाद आपको उस बिज़नेस से जुड़ा मार्किट रिसर्च करना शुरू करना होगा। जिसमे आपको कुछ सवालो के जवाब भी ढूंढने होंगे। जैसे –

business-market-research
business-market-research
  • आपके Business को मार्किट से क्या रेस्पॉन्स मिल रहा है।
  • टारगेट कस्टमर कौनसे है।
  • आपके प्रोडक्ट्स की मार्किट में कितनी डिमांड है।
  • क्या कोई ऐसी कंपनी है जो आपके बिज़नेस जैसी सेवाएं दे रही है।
  • आपके Business में कितना कम्पटीशन है।
  • आप किस तरीके से मार्किट में अपने बिज़नेस के लिए जगह बना सकते है।
  • अपने कस्टमर को दूसरी कम्पनियो से बेहतर सेवा कैसे दे सकते है।
  • बिज़नेस शुरू करने का सही समय क्या है?
  • आपका बिज़नेस फ्यूचर में कितना ग्रो करने वाला है?

दोस्तों, ऐसे बहुत सारे सवालो के जवाब आपको मार्किट रिसर्च करके पता करने होंगे।

बिजनेस प्लान बनाएं। (Create a Business Plan)

अभी तक अपने यह निर्णय लिया है की आपको किस क्षेत्र (Field) में बिज़नेस (Business ) करना है और उस Business की मार्किट में क्या स्थिति (Condition) है। यह सब जान लेने के बाद अब बारीआती है बिज़नेस प्लान (Business Plan) बनाने की। क्योकि आप जो प्लान तैयार करेंगे उसी के हिसाब से आप अपना बिज़नेस बढ़ा (Business Grow ) सकेंगे।

business-plan
business-plan

Business Plan बनाते समय आपके साथ दो बाते हो सकती है।

  1. क्या आपके बिज़नेस में किसी इन्वेस्टर की जरुरत है?
  2. क्या आपको फाइनेंसियल सपोर्ट की आवश्यकता नहीं है?

क्या आपके व्यवसाय (Business) में किसी निवेशक (Investor) की जरुरत है?

यदि है तो आपको एक डिटेल बिज़नेस प्लान तैयार करना होगा। जिसमे बिज़नेस से जुडी सभी महत्वपूर्ण बातो को शामिल करने होंगे।

जैसे-

  • कंपनी डिस्क्रिप्शन (Company description)
  • प्रोडक्ट और सर्विसेज (Products and Services)
  • मार्किट एनालिसिस (Market analysis)
  • मार्किट स्ट्रॅटजी (Market strategy)
  • एक्सिक्यूटिव समरी (Executive Summary)
  • मैनेजमेंट समरी (Management summary)
  • फाइनेंसियल एनलिसिस। (Financial analysis)

आपकी व्यावसायिक योजना (Business Plan) का अध्ययन निवेशक (Investor) द्वारा किया जाएगा। और आपके द्वारा दिए गए व्यवसाय से संबंधित सभी जानकारी से सहमत होने के बाद ही आपको वित्तीय (Financial) सहायता मिलेगी।

क्या आपको फाइनेंसियल सपोर्ट की आवश्यकता नहीं है?

यदि आपको फाइनेंसियल सपोर्ट की आवश्यकता नहीं है तो आपको अपने बिज़नेस आईडिया को एक नोट बुक में लिखकर रख सकते है और समय समय पर उसमे सुधार (Improvement) कर सकते है।

व्यवसाय खर्चे को जाने। (Business Expenses )

कई बार हम Business में लगाने वाले छोटे-छोटे खर्चो को छोड़ देते है। हम सोचते है बाद में लिख लेंगे या अभी लिखना जरुरी नहीं है। लेकिन हम आपको बता दें की ये छोटी सी चीज बहुत बड़ी भूमिका निभाती है। और आपको आने वाली कई तरीके की समस्याओं से बचती है।

आपने एक बिज़नेस प्लान तैयार कर लिया है। लेकिन Business Start करते समय जिन चीजों पर खर्चे होते हैं। उनकी पूरी जानकारी और उन पर होने वाले खर्च की गणना करना बहुत ही महत्वपूर्ण है। ऐसा करने से, आप यह जान पाएंगे कि आपके पास बिज़नेस शुरू करने के लिए कितना पैसा होना चाहिए। इसलिए, बिज़नेस की शुरुआत में किए गए खर्चों की गणना की जानी चाहिए।

Business Start करते समय निम्न चीजों पर खर्चा होना संभव है।

  • लाइसेंस / परमिट व्यय (License / Permit Expense)
  • व्यवसाय पंजीकरण (Business registration)
  • कानूनी फीस (Legal fees)
  • बीमा (Insurance)
  • उपकरण (Equipment)
  • व्यापार ब्रांडिंग (Business Branding)
  • बाजार अनुसंधान व्यय (Market Research Expense)

इससे ऑडिटिंग के समय किसी भी प्रकार की समस्या से काफी राहत मिलेगी। और आप काफी तनाव-मुक्त रहेंगे।

यह भी पढ़ें:

eCommerce क्या है? ई-कॉमर्स के क्या लाभ है? पूरी जानकारी हिंदी में.

Amazon Seller Account कैसे बनाये? पूरी जानकारी हिंदी में

बिज़नेस स्ट्रक्चर (Business Structure)

अपना बिज़नेस शुरू करने से पहले, आपको अपने बिज़नेस की संरचना (Business Structure) तय करनी होगी। जैसे- क्या आप इसे अकेले या साझेदारी (Partnership) में शुरू करेंगे? या इसे निगम (Corporation) का रूप देना चाहते हैं। बिज़नेस स्ट्रक्चर को तय करना बहुत महत्वपूर्ण है। क्योंकि आगे के सभी कानूनी (Legal) काम इसी पर आधारित होंगे।

business-structure
business-structure

व्यवसाय पंजीकरण (Business Registration)

अब बारी आती है आपके बिज़नेस का रजिस्ट्रेशन (Business Registration) करवाना। यह बहुत ही जरुरी होता है। जैसे आपका नाम आपकी पहचान है। वैसे ही आपके बिज़नेस का नाम आपके बिज़नेस की पहचान है।

इसलिए एक ऐसा बिज़नेस चुनिए जो आपके ब्रांड की वैल्यू को बढ़ा सके। जो एक दम नया और यूनिक हो। और आसानी से रीड भी किया जा सके। अपने बिज़नेस का नाम चुनने के बाद उसे रजिस्टर्ड करवाना बिलकुल भी न भूलें।

बिज़नेस लोकेशन (Business Location)

आप अपने बिज़नेस के अनुसार Business की लोकेशन सेटअप करें। इस दौरान आपको ध्यान रखना होगा की आपके बिज़नेस लोकेशन, आपके बिज़नेस के लिए लाभदायी (Profitable) साबित हो। इसके लिए आपको सही जगह पर सही उपकरण (Equipment) के साथ में बिज़नेस सेटअप लगाना होगा। यह सेटअप करने से पहले बिज़नेस लोकेशन के बारे में मार्किट में थोड़ी बहुत रिसर्च करनी होगी। इसके बाद ही अपना लोकेशन सेटअप करें।

बिज़नेस लाइसेंस और परमिट (Business License and Permit)

इसके लिए आपको अपने Business से सम्बंधित डिपार्टमेंट से संपर्क करना होगा। और जानना होगा की। बिज़नेस लाइसेंस के लिए डिपार्टमेंट की क्या रेक्विरमेंट हैं। और उन्हें इसके लिए कौनसे से दस्तावेज चाहिए।

दूसरा तरीका यह है की आप किसी अकाउंटेंट या चार्टेड अकाउंटेंट से मिलकर अपने बिज़नेस की सभी जानकारी बताये। फिर ये लोग आपको आसानी से आपके Business के अकॉर्डिंग लाइसेंस और परमिट दिलवा देंगे। इसके लिए आपको कुछ चार्जेज भी देने होंगे।

बिज़नेस एकाउंटिंग सेटअप करना। (Setup Business Accounting System)

Business सेटअप होने के बाद में आपको एकाउंटिंग सिस्टम भी सेटअप करना होगा। क्योकि आप भी यह जानते है की बिज़नेस चाहें किसी भी प्रोडक्ट या सर्विस से जुड़ा हो उसका एकाउंटिंग सिस्टम एक दम मजबूत होना जरुरी है। तभी तो आप बिज़नेस के लिए सही बजट को तैयार कर पाएंगे। और उसे मैनेज कर पाएंगे।

आप चाहे तो ये काम स्वयं कर सकते है या फिर एक अकाउंटेंट को हायर कर सकते है। क्योकि यह काम ज्यादा मुश्किल नहीं है।

बिज़नेस टीम (Business Team)

Business को अधिक तेज़ी से विकसित करने के लिए, आपको एक अच्छी टीम तैयार करनी होगी। यदि आप अपने दम पर व्यवसाय से संबंधित सभी कार्य संभाल सकते हैं, तो आपको टीम की आवश्यकता नहीं है।

यदि आपका व्यवसाय मॉडल टीम आधारित है, तो व्यवसाय की आवश्यकता के अनुसार अपनी टीम तैयार करें।

वास्तव में, यदि आप जीवन में पैसा कमाना चाहते हैं और अपने व्यवसाय को तेजी से बढ़ाना चाहते हैं और जीवन को अच्छी तरह से जीना चाहते हैं, तो आपको एक टीम तैयार करनी होगी।

इसे अकेले भी कर सकते हैं, लेकिन असली परिभाषा आमिर बनाना की यह नहीं है। पैसा कमाना, परिवार के साथ समय बिताना और साथ ही अपने लिए समय निकालना बहुत जरूरी है। यही सही मायने में असली खुशी है। अगर आप वास्तव में एक अच्छा बिज़नेस करना चाहते है, तो आपको एक अच्छी टीम तैयार करनी होगी। तभी आप जीवन में सभी चीजों को प्राप्त कर सकते हैं।

बिज़नेस प्रमोशन (Business Promotion)

बिज़नेस शुरू करने के बाद प्रमोशन करना भी बहुत जरुरी है। ताकि कस्टमर को आपके प्रोडक्ट और सर्विस के बारे में पता चले और आपसे जुड़ सके। प्रमोशन करने से ही आपके बिज़नेस को पहचान मिलेगी जो आपके Business को आगे बढ़ाने में बहुत ही मददगार साबित होंगे।

खुद पर भरोसा (Trust yourself)

एक न एक दिन आप अपना बिज़नेस खड़ा कर लेंगे। लेकिन यह बात आपको ाची से पता है की बिज़नेस में कभी ऊपर तो कभी निचे होता ही रहता है। इसलिए एक सक्सेसफुल और प्रोग्रेसिव बिज़नेस के लिए यह बहुत जरुरी है आपको खुद पर भरोसा बनाये रखें।

बिज़नेस की उतर -चढाव में अपने पैशन्स को न खोएं। और आपके बिज़नेस के लिए आपकी की लगन और रूचि कभी कम ना हो।

इन सभी बातो और स्टेप्स को फॉलो करके आप स्वयं का बिज़नेस शुरू कर सकते है। जो भले ही आपकी शुरुवात हो लेकिन जल्दी ही आप मेहनत करके ऊँचे मुकाम पर पंहुचा देंगे।

निष्कर्ष : Business Kaise Shuru Kare?

दोस्तों, उम्मीद है की हमने आपको Business कैसे शुरू करें? के बारे में पूरी जानकारी दी है। और उम्मीद करता हु की दिए गए स्टेप्स को फॉलो करके अपने बिज़नेस की शुरुवात कर पाएंगे

आपको कैसी लगी हमारी पोस्ट नया Business कैसे शुरू करें? पूरी जानकारी हिंदी में . हमें कमेंट बॉक्स में Comment करके जरूर बताये। इसके अलावा आपके मन में कोई सवाल है तो आप comment box में पूछ सकते है। मै पूरी कोशिश करूँगा आपके सवालो का जवाब देने की।

About Sonu Singh

Hello friends, I am Sonu Singh, Author & Co-Founder of wekens. Talking about education, I am a graduate. I love to learn and learn about technical news, top story, history. I request you that you keep supporting us in this way and we will continue to provide new information for you. #wekens Team, Digital India, Jai Hind

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.