Credit Card क्या है? क्रेडिट कार्ड कैसे काम करता है?

दोस्तों, इस ब्लॉग लेख में हम जानेंगे “Credit Card क्या है?” और “क्रेडिट कार्ड कैसे काम करता है?” साथ ही हम जानेंगे डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में अंतर क्या है? यदि आप क्रेडिट कार्ड के बारे में सब कुछ जानना चाहते है तो यह ब्लॉग आपके लिए महत्वपूर्ण होने वाला है।

Credit Card क्या है? (What is Credit Card)

क्रेडिट कार्ड बैंक या वित्तीय संस्थाओ द्वारा जारी किया जाने वाला एक प्लास्टिक कार्ड है। यह दिखने में Debit Card की तरह ही होता है। जिसमें बैंक या अन्य वित्तीय संस्थाएं अपने ग्राहकों को कैशलेश शॉपिंग (Cashless Shopping) करने के लिए एक निश्चित अवधि के लिए लघु ऋण (Small Loan) प्रदान करती है। जिसमे कैशलेश शॉपिंग की अधिकतम सीमा और ब्याज (Interest) की दर ऋण वापसी के दिन तक तय की जाती है।

Credit Card Demo Image

ज्यादातर वित्तीय संस्थाएं 45 दिन के अवधि के दौरान ऋण वापसी पर कोई ब्याज नहीं लेती है। इससे अधिक होने पर ऋण राशि के साथ पैसा वापस करना होता है।

क्रेडिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं? (Type of Credit Card)

भारत में वित्तीय संस्थाओं द्वारा विभिन्न प्रकार के क्रेडिट कार्ड अपने ग्राहकों को जारी किये जाते है।

क्रेडिट कार्ड के कुछ निम्न प्रकार से होते है।

  • Shopping Credit Card (शॉपिंग क्रेडिट कार्ड) – वित्तीय संस्थाए अपने ग्राहकों को शॉपिंग कार्ड की सुविधा प्रदान करती है। इस का इस्तेमाल आप मुख्या रूप से ऑनलाइन और ऑफलाइन खरीदारी करने के लिए किया जाता है। जिस पर आपको कैश बैक, डिस्काउंट वाउचर, और कई प्रकार की स्कीम दी जाती है। जिस से आपको खरीदारी पर अधिक लाभ मिलता है।
  • Fuel Credit Card (फ्यूल क्रेडिट कार्ड)– इस कार्ड के इस्तेमाल से आप अपने वाहन की फ्यूल लागत को कम कर सकते है। क्योकि इस कार्ड का इस्तेमाल करने से आपको फ्यूल सरचार्ज का लाभ और अन्य रिवार्ड्स पॉइंट मिलते है।
  • Travel Credit Card (ट्रेवल क्रेडिट कार्ड)– इस कार्ड से आप बस टिकट, ट्रैन टिकट, एयरलाइन्स टिकट, कैब बुकिंग आदि कर सकते है। जिन पर आपको रिवार्ड पॉइंट एवं कई प्रकार के छूट मिलती है। जिनका आप ट्रेवल के दौरान लाभ उठा सकते है।
  • Reward Credit Card (रिवॉर्ड क्रेडिट कार्ड)– इस तरह के कार्ड पर आपको विशेष खरीद करने या ट्रांसक्शन पर रिवार्ड पॉइंट मिलते है। जिसे आप भविष्य में की जाने वाली खरीद पर अर्जित किये गए रिवार्ड्स पॉइंट्स को रिडीम कर सकते है और इसका लाभ उठा सकते है।
  • Entertainment Credit Card (इंटरटेन्मेंट क्रेडिट कार्ड)– इस तरह के क्रेडिट कार्ड उन लोगो के लिए बहुत उपयोगी है जो अक्सर इंटरटेन्मेंट पर खर्च करते रहते है। इस कार्ड का इस्तेमाल करके आप अपने इंटरटेन्मेंट खर्च को बहुत काम कर सकते है। क्योकि इसमें आपको डिस्काउंट, रिवार्ड्स पॉइंट, कैश बैक, लिमिटेड टाइम ऑफर, कम्प्लीमेंटरी मेम्बरशिप, को-ब्रांडेड लाभ आदि मिलते है।
  • Secured Credit Card (सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड)– इस क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल आकर्षक ब्याज दरों का लाभ उठाने के लिए Fixed Deposit पर Secured Credit कार्ड का लाभ उठा सकते है। इसकी मदद से कार्ड धारक सही लेनदेन करते हुए अपना क्रेडिट स्कोर बढ़ा सकते है।

क्रेडिट कार्ड के फायदे (Advantage of Credit Card)

आपको क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने पर विभिन्न लाभ मिलते है। जिसकी मदद से आप अपने वित्तीय स्थिति को बेहतर बना सकते है।

  • खरीदारी करना आसान है।
  • रिवॉर्ड पॉइंट जमा करें.
  • कैश बैक या माइल्स पॉइंट जैसे लाभ प्राप्त करें।
  • क्रेडिट स्कोर बढ़ाएं.
  • 0% ब्याज के साथ एटीएम नकद निकासी।
  • खरीद शक्ति को बढ़ाये।
  • क्रेडिट लिमिट बढ़ाने का अवसर।
  • Credit Card धोखाधड़ी से सुरक्षा।
  • क्रेडिट स्कोर की फ्री जानकारी।
  • विदेशी लेनदेन पर कोई शुल्क नहीं।
  • आपके बचत कहते से लिंक नहीं होता है।

क्रेडिट कार्ड के नुकसान (Disadvantage of Ctredit Card)

फ़ायदे के साथ-साथ क्रेडिट कार्ड्स के कुछ नुकसान भी है, जिनके बारे में आपको पता होना चाहिए। जो की निम्न प्रकार से है।

  • अधिक ब्याज दर (Higher Interest Rate)
    नियत समय की भीतर अपने क्रेडिट कार्ड के बकाया राशि का भुगतान नहीं करने पर अधिक ब्याज दर का भुगतान करना होता है। आप समय पर भुगतान करके अतिरिक्त ब्याज से बच सकते है।
  • अधिक खर्च (More Expenses)
    क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करना बहुत ही आसान होता है जिसकी वजह से अधिक खर्च हो जाता है। जिसकी वजह से हमारी फाइनेंसियल स्थिति में गड़बड़ी पैदा हो जाती है। जिसकी वजह से क्रेडिट कार्ड लाभ पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसलिए अपने क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते समय जिम्मेदार बने और क्रेडिट कार्ड का लाभ उठायें।

Credit Card कैसे काम करता है? (How does a credit card work?)

वित्तीय संस्था अपने क्रेडिट कार्ड धारक को उनको योग्यता के हिसाब से क्रेडिट लिमिट सीमा तय करती है। जब क्रेडिट कार्ड धारक किसी भी ट्रांसक्शन के लिए कार्ड का इस्तेमाल करता है तो क्रेडिट कार्ड बैंक आपकी तरफ से मर्चेंट को भुगतान करती है। और आपको तय सीमा में क्रेडिट कार्ड का भुगतान करना होता है। यदि आप समय पर भुगतान नहीं करते है तो आपको पेनल्टी के साथ अधिक ब्याज भी देना पड़ता है।

यदि आप समय पर भुगतान करते है तो आपकी क्रेडिट लिमिट आसानी से बढ़ा सकते है और साथ ही क्रेडिट स्कोर भी बढ़ता है।

क्रेडिट कार्ड का हर माह में आपको स्टेटमेंट मिल जाता है। जिसमे आप माह में दौरान किये गए ट्रांसक्शन को देख सकते है। स्टेटमेंट में आपको निम्न बातो का पता चलता है।

  • क्रेडिट लिमिट बैलेंस।
  • न्यूनतम भुगतान राशि।
  • कुल भुगतान की तारीख।
  • कुल ब्याज राशि और चार्जेज।
  • भुगतान करने का तरीका।

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में अंतर क्या है? (Diffrance of Credit Card & Debit Card)

डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड दोनों ही प्लास्टिक कार्ड होता है। डेबिट कार्ड दिखने में क्रेडिट कार्ड जैसा ही दिखाई देता है। दोनों कार्ड्स पर 16 अंको का नंबर, समाप्ति तिथि और पिन नंबर होता है। ये दोनों कार्ड (Credit & Debit Card) एक जैसे दिखाई देते है और दोनों के इस्तेमाल करने का तरीका एक जैसा होता है। लेकिन इन दोनों कार्ड्स में मुख्य अंतर निम्न प्रकार से है।

Video Credit: Khan GS Research Centre


डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में अंतर।

क्रेडिट लिमिट (Credit Limit)

क्रेडिट कार्ड बैंक द्वारा दिया गया लोन होता है। जिसकी एक लिमिट तय होती है। यह राशि 1-2 लाख या इससे ऊपर भी हो सकती यह यह पूरी तरह से आपके वित्तीय लेनदेन और बैंक पर निर्भर करता है की आपकी Credit Card की कितनी लिमिट रहेगी। आप तय लिमिट तक ही इस कार्ड से शॉपिंग कर सकते है। और इसका भुगतान एक निश्चित अवधि में करना होता है।

जबकि डेबिट कार्ड का इस्तेमाल पूरी तरह से आपकी सेविंग पर निर्भर करता है। यानि जीतनी आपकी बैंक में सेविंग्स है उतनी ही शॉपिंग या एटीएम निकासी कर सकते है।

ब्याज (Interest)

Credit Card Bill का भुगतान 45 दिन की अवधि के अंदर करना होता है। यदि आप ऐसा नहीं करते है, तो भारी पेनेल्टी और ब्याज राशि चुकानी पड़ती है। जबकि डेबिट कार्ड में आपको कोई ब्याज और पेनेल्टी नहीं देना पड़ता है।

एटीएम निकासी (ATM Withdrawal)

एटीएम से क्रेडिट कार्ड द्वारा पैसे निकलने पर आपको ब्याज और चार्ज देना होता है। लेकिन डेबिट कार्ड से पैसे निकासी पर आपको कोई भी चार्ज नहीं देना होता है। लेकिन दोनों ही कार्ड में एटीएम से पैसे निकलने की एक सीमा होती है।

सिक्योरिटी (Security)

डेबिट कार्ड हो या क्रेडिट कार्ड दोनों के सिक्योरिटी फीचर्स लगभग एक जैसे होते है। और दोनों ही बहुत ही सिक्योर होते है। दोनों ही कार्ड्स से भुगतान करने पर OTP, या PIN नंबर पूछा जाता है।

वार्षिक चार्जेज (Yearly Charges)

क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल पर आपको वार्षिक चार्ज देना होता है। लेकिन डेबिट कार्ड के लिए कोई वार्षिक चार्ज नहीं देना होता है।

डिस्काउंट बेनिफिट (Discount Benifit)

क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करने पर आपको कई तरह के फायदे मिलते है जैसे – कैश बैक, रिवार्ड्स, डिस्काउंट, कूपन वाउचर आदि मिलते है। जिनका फायदा आप उठा सकते है। और डेबिट कार्ड में शॉपिंग डिस्काउंट और कैश बैक ऑफर मिलते है।

क्रेडिट कार्ड बिल का भुगतान कैसे करें? (How to pay Credit Card Bill?)

क्रेडिट कार्ड का भुगतान करना बहुत ही आसान है। आप निचे दिए गए विकल्प का चयन करके सरलता से अपने Credit Card Bill का भुगतान कर सकते है।

  • मोबाइल एप्प की मदद से क्रेडिट कार्ड का भुगतान।
  • UPI के माध्यम से क्रेडिट कार्ड का भुगतान।
  • वित्तीय संस्था के नियर ब्रांच में जाकर क्रेडिट कार्ड का भुगतान।
  • चैक द्वारा क्रेडिट कार्ड का भुगतान।
  • इंटरनेट बैंकिंग द्वारा क्रेडिट का भुगतान।
  • Bill Desk के माध्यम से क्रेडिट कार्ड का भुगतान।
  • E-Mitra द्वारा क्रेडिट कार्ड का भुगतान।

आप भुगतान से सम्बंधित जानकारी के लिए अपने Credit Card Bank से संपर्क करके अधिक जानकारी ले सकते है।

यह भी पढ़ें:

eSports क्या है? E-Sports का Full क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में.

POS (Point of Sale) क्या है? | POS System कैसे काम करता है? पूरी जानकारी

e-Payment क्या हैं? | Electronic Payment के लाभ और हानि क्या है?| पूरी जानकारी

UPI ID क्या है? | यूपीआई आईडी कैसे बनाते है ? | पूरी जानकारी

AePS क्या है? AePS Enabled Payment Service की पूरी जानकारी।

Business कैसे शुरू करें? पूरी जानकारी हिंदी में

BHIM App क्या है? BHIM UPI की जानकारी हिंदी में।

VPA क्या है? Virtual Payment Address कैसे बनाये? हिंदी में

EFT क्या है? इलेक्ट्रॉनिक फण्ड ट्रांसफर की पूरी जानकारी।

निष्कर्ष: क्रेडिट कार्ड क्या होता है?

दोस्तों, उम्मीद है की मैंने आपको Credit Card क्या होता है? क्रेडिट कार्ड कैसे काम करता है? के बारे में पूरी जानकारी दी है। और उम्मीद करता हु की Credit Card और लाभ (Advantage) और नुकसान (Disadvantage) आपको अच्छे से समझ में आ गया होगा।

आपको कैसी लगी हमारी पोस्ट क्रेडिट कार्ड क्या होता है? क्रेडिट कार्ड कैसे काम करता है? हमें कमेंट बॉक्स में Comment करके जरूर बताये। इसके अलावा आपके मन में कोई सवाल है तो आप comment box में पूछ सकते है। मै पूरी कोशिश करूँगा आपके सवालो का जवाब देने की।

Sonu Singh

Hello friends, I am Sonu Singh, Author & Co-Founder of wekens. Talking about education, I am a graduate. I love to learn and learn about technical news, top story, history. I request you that you keep supporting us in this way and we will continue to provide new information for you. #wekens Team, Digital India, Jai Hind

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.