eCommerce क्या है? ई-कॉमर्स के क्या लाभ है? पूरी जानकारी हिंदी में.

दोस्तों, इस लेख में हम जानेंगे “eCommerce क्या है? और ई-कॉमर्स के क्या लाभ है?”, e-Commerce प्रकार क्या है? e-Commerce का उपयोग क्या है?, भारत की प्रमुख ecommerce Website कौन-कौन सी है? समय के साथ सब कुछ बदल जाता है, वैसे ही वर्त्तमान युग में Shopping करने और Business करने का तरीका भी बदल रहा है।

आपको Shopping करने या Business करने के लिए बहार जाने की जरुरत नहीं आप घर बढे किसी भी Product खरीद या बेच सकते है, और यह सब मुमकिन हो रहा है E-commerce service की वजह से।

चलिए जानते है eCommerce Kya Hai? और ई-कॉमर्स से लाभ क्या है?

eCommerce Kya Hai? (ई-कॉमर्स क्या है?)

किसी भी सामान को Electronic माध्यम (by Internet) से ख़रीदा या बेचा जाये, उसे E-Commerce (Electronic Commerce) कहते है। eCommerce में Physically Product के अलावा Digital Products और सेवाओं का भी व्यापार होता है।

eCommerce की वजह से Business करने और Shopping करने का तरीका धीरे-धीरे बदलता जा रहा है। इससे Online Retail Service बहुत ही आरामदायक हो गयी है क्योकि यह 24 घंटे उपलब्ध है और पूरी दुनिया में उपलब्ध है।

ई-कॉमर्स प्लेटफार्म के माध्यम से किसी भी सामान को एक क्लिक में मंगवा सकते है, भुगतान कर सकते है। इसके लिए आपको दुकान पर जाने की जरुरत नहीं है।

eCommerce कितने प्रकार की होती है?

eCommerce Business मुख्य रूप से 5 प्रकार से संचालित होता है। जो निम्न प्रकार से है।

Business to Consumer (व्यापार से ग्राहक)-B2C

B2C Business में कंपनी अपने Products या Services को सीधे Consumer को बेचती है। आम तौर पर इसमें बिचौलियों का कोई लेना देना नहीं होता है।

इसके अलावा, Local Retailer एक वेबसाइट के माध्यम से Consumers तक पहुंचने के लिए बी 2 सी ईकामर्स का उपयोग करते हैं।

ई-कॉमर्स का सबसे ज्यादा प्रचलित रूप है, Business तो Consumer। इसका उपयोग बड़ी कंपनियों, छोटी कंपनियों या Startup कंपनियों द्वारा किया जाता है।

क्योकि eCommerce में Startup कंपनियों को अपने Retail Outlets में Invest करने की जरुरत नहीं होती है, और ना ही बड़ी marketing Team तथा Staff रखने की जरुरत होती है।

सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला B2C एप्लिकेशन तीन प्रकार के होते हैं। Online Banking, Financial Business, and Online Shopping.

  1. Online Banking (ऑनलाइन बैंकिंग)
  2. Online Stock Business ( ऑनलाइन स्टॉक व्यापार)
  3. Digital Shopping (ऑनलाइन खरीदारी)

Business to Business (व्यापार से व्यापार)-B2B

इस ई-कॉमर्स business में केवल व्यापारी ही शामिल होते है। इस प्रकार के Business में दो व्यापारियों का आपस में Production और Services की बिक्री होती है।

यह Business केवल Manufacture, Wholesaler,और Retails के बिच में ही होता है। जैसे- एक Computer बनाने वाले को कच्चे माल की आवश्यकता होती है जैसे – Keyboard, Mouse, Software, Charger, etc.

इस प्रकार के Business में Consumer का कोई लेना देना नहीं होता है। इसलिए इसे Business to Business कहते है।

Consumer to Business (ग्राहक से व्यापार)- C2B

इस प्रकार के eCommerce Business में Consumer अपना सामान और Services सीधे एक कंपनी को बेचता है, तो यह C2B ई-कॉमर्स business कहलाता है।

यहाँ Consumer अपने Product और Services को Online Sale के लिए किसी Website पर लगा देता है, जहाँ कंपनियां Consumer के Products पर बोली (Auction) लगाती है।

Consumer इन बोलियों को देख सकता है। और अपने हिसाब से कंपनियों को अपना Products बेच सकता है।

एक Musician, Comedian, Actor, Dancer, Photographer, Doctor, Charted Accountant, आदि।

यह सभी कार्य Consumer to Business के अंतर्गत आते है।

Consumer to Consumer (ग्राहक से ग्राहक)-C2C

इस प्रकार के Business में एक ग्राहक अपना सामान दुसरे ग्राहक को बेचता है। इसका सबसे बेहतरीन उदहारण है “eBay“.

इस website पर Consumer अपना पुराना सामान Consumer को बेचता है। यह सब पुर्णतः एक electronic माध्यम के द्वारा होता है।

mCommerce (मोबाइल कॉमर्स)

Mobile या Personal Digital Assistant के द्वारा सामान के खरीदने या बेचने को mCommerce (Mobile Commerce) कहते है।

आने वाले समय में सबसे ज्यादा इसी प्रकार का eCommerce प्रचलित होने वाला है। जहाँ Internet का उपयोग करने के लिए किसी Wire की जरुरत नहीं होती है।

यह भी पढ़ें:

Small Business Ideas in Hindi- कम लागत मुनाफा ज्यादा

Blogging क्या है?|Blogging शुरू कैसे करें?

Google Task Mate क्या है? गूगल टास्क मेट से पैसे कैसे कमाए?

eCommerce Business (ई वाणिज्य) के लाभ क्या है?

e-Commerce Business (ई-वाणिज्य) करने के प्रमुख फायदे निम्न प्रकार से है।

Low Investment for Start an eCommerce Business

eCommerce Business शुरू करने के लिए ज्यादा Investment की जरुरत नहीं है। यह Business बहुत ही Low investment में शुरू कर सकते है।

एक परम्परागत व्यापार (Traditional Business) में बहुत से खर्चे होते है, लेकिन e-Commerce व्यवसाय करने से, व्यापारी की दुकान से जुड़ी लागतों को बचाया जा सकता है।

उदहारण के लिए , एक कपडे की दुकान को खोले बिना तथा कर्मचारियों की भीड़ जमा किया बिना यह पूरी तरह से Online Web पर चल सकता है।

पारंपरिक व्यवसाय में, दुकान पर अधिक स्टॉक रखने की आवश्यकता होती है, जबकि ई-कॉमर्स व्यवसाय में आप स्टॉक को अपने हिसाब से रख सकते हैं।

24/7 Shopping ( 24/7 खरीददारी)

ई-कॉमर्स का सबसे बड़ा फायदा यह की आप 24/7 में कभी-भी Shopping कर सकते है। इसके लिए कोई Time Limit नहीं होती है।

जबकि Traditional marketing में Business करने की एक सीमा होती है। जब तक दुकान खुली हुई होती है जब तक ही आप खरीद या बेच सकते है।

इसके अलावा उपभोक्ता को किसी दुकानदार के पास जाने की जरुरत नहीं है। जैसे एक छोटे बच्चे के व्यस्त माता- पिता को खिलौने खरीदने के लिए अलग से समय निकलने की आवश्यकता नहीं होती है।

बस आपको eCommerce website पर जाकर कोई भी product का Order दीजिये, e-Payment कीजिये, और आपका सामान अगले कुछ दिनों में आपके घर पहुँच जायेगा।

Global Market (वैश्विक बाज़ार)

eCommerce की मदद से आप पूरी दुनिया में Business कर सकते है। क्योकि यह एक Global Market Place (वैश्विक बाज़ार) है।

यदि आप एक व्यापारी है तो आप अपना सामान दुनिया में कही भी बेच सकते है। क्योकि इसके लिए आपको ग्राहक (Consumer) खोजने की आवश्यकता नहीं होती है, बल्कि पूरी दुनिया आपका ग्राहक बनाने के लिए तैयार है।

यदि आप एक ग्राहक है तो आप पूरी दुनिया में कही से भी अपने पसंद का सामान Order करके मंगवा सकते है।

Profitable for Business and Consumer (व्यवसाय और उपभोक्ता के लिए लाभदायक)

यह Business जितना एक व्यापारी के लिए लाभदायक है, उतना ही एक उपभोक्ता के लिए लाभदायी है। क्योकि eCommerce Business में एक व्यापारी की लागत कम होती है जिसकी वजह से वह कम दाम में अपने सामान को बेच कर Profit कमा लेता है। और कम कीमत (Low Rate) होने की वजह से उपभोक्ता को भी उसका Profit मिल जाता है।

जिस तरह एक व्यापारी को बहुत सारे Stock रखने की आवश्यकता नहीं होती है, उसी तरह, उपभोक्ता जिस उत्पाद को खरीदना चाहता है, उसे उसी Marketplace में कई परिवर्तनशील उत्पाद मिलते हैं। क्योकि एक ही तरह के Product को बहुत सारे व्यापारी एक ही marketplace में बेचते है।

Save Time in Shopping (खरीदारी में समय की बचत)

आप सभी जानते हैं कि आज के समय में, समय का बहुत अधिक मूल्य है। अगर हम पारंपरिक खरीदारी की बात करें तो इसमें काफी समय लगता है।

अगर हमें अपने घर के लिए बहुत सारी चीजें खरीदनी हैं, तो हमें पूरा एक दिन लगेगा। क्योंकि हमें अलग-अलग सामान खरीदने के लिए अलग-अलग दुकानों में जाना पड़ता है।

जबकि ईकामर्स मार्केटप्लेस से आप घर पर कोई भी सामान खरीद सकते हैं। जिससे आपको ज्यादा समय भी नहीं लगेगा।

जबकि आप बिना समय गंवाए eCommerce Marketplace से घर बैठे कोई भी सामान खरीद सकते हैं।

इस व्यवसाय में, न केवल उपभोक्ता का समय बचता है, बल्कि व्यवसायी का समय भी बचता है। क्योंकि एक पारंपरिक व्यवसाय में, एक व्यापारी को अपना माल दिखाने के लिए उपभोक्ता के सामने बार-बार खोलना पड़ता है, जो न केवल उसका समय खराब करता है, बल्कि उसके माल को भी नुकसान पहुंचाता है।

Easy to Business and Shopping (व्यापार और खरीदारी के लिए आसान)

ई -कॉमर्स व्यापार को करना बहुत ही आसान (Easy) है। इस व्यवसाय को करने के लिए ज्यादा अनुभव की आवश्यकता नहीं होती है। eCommerce Business को घर बैठे आसानी से कर सकते है।

इस business को करने के लिए आपको थोड़ी बहुत Computer और Internet की जानकारी होनी चाहिए।

यदि हम उपभोक्ता की बात करें तो उपभोक्ताओं ने Online Shopping को Traditional Shopping की तुलना में ज्यादा आसान माना है।

इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि उपभोक्ता को किसी भी दुकान और Shopping Mall में जाने की आवश्यकता नहीं है, इसके लिए वह अपने कार्यालय, स्कूल, घर आदि से सामान मंगवा सकता है और प्राप्त कर सकता है।

eCommerce Business (ई वाणिज्य) में नुकसान क्या है?

ई-वाणिज्य में जिस तरह से फायदे होते है उसी तरह से नुकसान भी है। चलिए जानते है ecommerce के नुकसान क्या है?

  • Insecurity (असुरक्षित)- इस व्यवसाय को सुरक्षा के दृष्टिकोण से सुरक्षित नहीं माना जा सकता है। क्योंकि इससे उपभोक्ता की जानकारी चोरी होने की संभावना है।
  • Order Delivery- उपभोक्ता द्वारा सामान का आर्डर देने के बाद भी, सामान सही समय पर नहीं पहुंचता है और यहां तक कि अगर पहुंच भी जाता है, तो माल की गुणवत्ता में अंतर होता है।
  • Identification of the original product (असली प्रोडक्ट की पहचान) – परम्परागत Shopping में हम जिस Product को खरीद रहें है उसे जांच परख करके खरीद सकते है, लेकिन Online Shopping में ऐसा कर पाना संभव नहीं है।
  • Technical Knowledge (तकनीकी ज्ञान)- Online Shopping करने के लिए आपको Technical ज्ञान होना चाहिए, यदि आपको Computer और Mobile चलाना नहीं आता है तो आप Online Shopping नहीं कर सकते है।
  • Customer Support Service – दुकान से खरीदारी करते समय आप दुकानदार से बहुत सारे सवाल पूछ सकते है और उसका Solution भी आपको मिल जाता है, लेकिन Online Shopping के दौरान ऐसा कर पाना संभव नहीं होता है। इसके लिए आपको एक निशित समय का इंतज़ार करना पड़ता है।

यह भी पढ़ें:-

Signal App Kya Hai?, इसके Features और Policy क्या है?, पूरी जानकारी हिंदी में

Best YouTube Channel Ideas 2021- Unique 51 Niches

Instagram Followers कैसे बढ़ाये?-100% ✓Free Tips 2021

Online EPF Withdrawal कैसे करें? पीएफ कैसे निकालें 2020

eCommerce Website in India

भारत में सबसे ज्यादा लोगो द्वारा पसंद की जाने वाली eCommerce website है, जिनके नाम आप निचे की तरफ देख सकते है।

Amazon

Amazon दुनिया की सबसे बड़ी eCommerce कंपनी है। जिसकी शुरुवात वर्ष 1994 में हुई थी। जिसके Founder Mr. Jeff Bezos है। इसका मुख्य कार्यालय Seattle, Washington, U.S. में स्थित है।

अमेज़न एक eCommerce Marketplace है। जहाँ पर एक व्यापारी Amazon Seller Account बनाकर अपने Product की listing करके बेच सकता है।

Amazon के Popular होने की सबसे बड़ी बजह यह है की उपभोक्ताओं द्वारा किये गये किसी भी आर्डर को समय पर Delivery देता है। साथ ही Product की Quality का भी ध्यान रखता है।

Flipkart

Flipkart भारत की सबसे बड़ी eCommerce Website है। जिसकी शुरुवात वर्ष 2007 में IIT के छात्र सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने की थी। जिसका मुख्य कार्यालय बंगलौर में स्थित है।

फलिप्कार्ट startup के लिए एक Best उदहारण है। यह website मुख्य रूप से किताबो को बेचने के लिए शुरू की गयी थी लेकिन पिछले कुछ वर्षो में Ecommerce की दुनिया में अपनी अलग ही पहचान बनाया है।

इस marketplace पर लाखो व्यापारी अपना Flipkart Seller Registration करके लाखो रुपये कम रहें है।

Paytm

Paytm एक भारतीय eCommerce Payment System और Financial Technology कंपनी है,। जिसकी शुरुवात वर्ष 2010 श्री विजय शेखर शर्मा द्वारा की गयी थी। इसका मुख्य कार्यालय Noida में स्थित है। वर्तमान में इसके CEO श्री विजय शेखर शर्मा है।

Myntra

Myntra एक भारतीय ई-कॉमर्स कंपनी है। जो मुख्य रूप से Fashion (Menswear and Womenswear) से संबंधित Products को बेचती है। इसकी शुरुवात वर्ष 2007 में श्री मुकेश बंसल द्वारा Gift बेचने के लिए की गयी थी। इसका मुख्यालय बंगलौर, कर्नाटक, भारत में स्थित है।

वर्ष 2014 में Flipkart ने अपने Business को बढ़ाने के लिए Myntra का अधिग्रहण कर लिया था।

Zomato

Zomato भारत की प्रमुख E-Commerce कम्पनी है जिसका मुख्य काम भारत के चुनिंदा शहरों में Partner Restaurant Menu के बारे में जानकारी, और Food Delivery विकल्प प्रदान करना है। इसकी शुरुवात वर्ष 2008 में श्री दीपेन्द्र गोयल और पंकज चड्ढा द्वारा की गयी थी। इसका मुख्य कार्यालय गुरुग्राम, हरयाणा में स्थित है।

मैंने यहाँ भारत में प्रसिद्ध टॉप 5 E-Commerce website के बारे में बताया है। इसके अलावा और भी बहुत सी कंपनियां है।

यदि आपके पास एक अच्छा Startup Idea है तो आप भी एक ecommerce business startup कर सकते है।

FAQ for E-commerce in Hindi

भारत की पहली ई-कॉमर्स कंपनी कौनसी है?


भारत में ई-कॉमर्स शुरू होने से पहले पहले एक इलेक्ट्रॉनिक डाटा इंटरचेंज (EDI) मूल्य वर्धित नेटवर्क पर (वैन) के माध्यम से 1960 के दशक में शुरू की गई थी| मध्यम इंटरनेट का उपयोग की वृद्धि की उपलब्धता और 1990 के दशक और 2000 के दशक में लोकप्रिय ऑनलाइन विक्रेताओं के आगमन के साथ हुई।

Conclusion: eCommerce Kya Hai?

उम्मीद है की मैंने आपको eCommerce क्या है? ई-कॉमर्स के क्या लाभ है? के बारे में पूरी जानकारी दी है। यदि आपके मन में किसी भी तरह का सवाल है तो आप Comments Box में लिख सकते है। हम आपको जल्दी इसका Reply करेंगे। तो देर किस बात की है आज ही अपना eCommerce Website शुरू कीजिये या किसी e-Commerce Marketplace के साथ जुड़कर Business को बढ़ाइए।

दोस्तों, कैसी लगी हमारी पोस्ट eCommerce क्या है? ई-कॉमर्स के क्या लाभ है? पूरी जानकारी हिंदी में. हमें कमेंट बॉक्स में Comment करके जरूर बताये। इसके अलावा आपके मन में कोई सवाल है तो आप comment box में पूछ सकते है। मै पूरी कोशिश करूँगा आपके सवालो का जवाब देने की।

यह भी पढ़ें:- PF Balance Check कैसे करते हैं?| EPF Balance Check.

About Sonu Singh

Hello friends, I am Sonu Singh, Author & Co-Founder of wekens. Talking about education, I am a graduate. I love to learn and learn about technical news, top story, history. I request you that you keep supporting us in this way and we will continue to provide new information for you. #wekens Team, Digital India, Jai Hind

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.