Equity Fund क्या है? इक्विटी म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कैसे करें?

दोस्तों हमने अपने पिछले ब्लॉग लेख में Mutual Fund और SIP (Systematic Investment Plan) के बारे में विस्तृत जानकारी दी थी। जिसमे हमने इक्विटी फण्ड का भी जिक्र किया था। इस लेख में हम जानेंगे ‘Equity Fund क्या है?‘ ‘इक्विटी फण्ड कितने प्रकार के होते है?’इक्विटी फण्ड में निवेश कैसे करें?’ यदि आप इक्विटी म्यूच्यूअल फण्ड के बारे में पूरी जानकारी चाहते है तो यह लेख आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाला है।

Equity Fund क्या है?

Equity Fund वे फंड होते हैं जिनका निवेश कंपनियों के शेयर खरीदने में किया जाता है। Equity Fund को Growth Fund भी कहा जाता है। यह Mutual Fund की एक स्कीम है। जो मुख्य रूप से एक कंपनी के शेयर्स/ स्टॉक होते है।

Invest कहाँ करना है यह Equity Fund मैनेजर पर निर्भर करता है। एक इक्विटी फण्ड मैनेजर बाजार की सभी कंपनियों की परफॉरमेंस जाँच करता है, रिसर्च करता है और इन्वेस्टमेंट के लिए सबसे अच्छे शेयर और स्टॉक की तलाश करता है।

इक्विटी फण्ड को विभिन्न भागो में बनता गया है। ताकि निवेशक अपने जोखिम के हिसाब से निवेश कर सके।

Equity Mutual Fund in Share Market
Equity Mutual Fund in Share Market

चलिए जानते है इक्विटी फण्ड कितने प्रकार के होते है।

इक्विटी फण्ड कितने प्रकार के होते है?

Mutual Fund में निवेश करने से पहले आपको इक्विटी फण्ड के प्रकार के बारे में समझना जरुरी है। इक्विटी फण्ड को पूंजीकरण के अनुसार विभाजित किया जाता है। यानि पूंजी बाजार किसी कंपनी को कितना महत्व देती है। जैसे लार्ज कैप, मिड कैप, स्माल कैप और माइक्रो कैप फण्ड हो सकते है।

इसके अलावा इक्विटी फण्ड का वर्गीकरण क्षेत्र, विषय के आधार पर भी हो सकता है।

इक्विटी फण्ड मुख्य रूप से 7 प्रकार के होते है। जो की निम्न है।

लार्ज कैप इक्विटी फंड (Large Cap Equity Fund)

Large Cap Equity Fund में निवेश बड़ी कंपनियों में किया जाता है। इन कंपनियों का चयन फंड मैनेजर द्वारा कंपनियों के प्रदर्शन और विश्वसनीयता के आधार पर किया जाता है। इन कंपनियों के डूबने का खतरा बहुत कम होता है। इसलिए आप इस तरह के इक्विटी फण्ड में निवेश कर सकते हैं। यहां जोखिम का खतरा भी बहुत कम है।

मिड कैप इक्विटी फंड (Mid Cap Equity Fund)

Mid Cap Equity Fund में निवेश मध्यम वर्ग की कंपनियों में किया जाता है। इसमें लार्ज कैप इक्विटी फंड की तुलना में थोड़ा अधिक जोखिम होता है। लेकिन यहां लाभ की पूरी संभावना है। क्योंकि अगर यह कंपनी भविष्य में अच्छा प्रदर्शन करती है तो यह भविष्य में आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है।

स्मॉल कैप इक्विटी फंड (Small Cap Equity Fund)

Small Cap Equity Fund छोटी कंपनियों में निवेश करते हैं। केवल वही लोग इन कंपनियों में निवेश करते हैं जो अधिक जोखिम ले सकते हैं। लेकिन यहाँ जोखिम भी अधिक है और फायदा भी अधिक है।

सेक्टर इक्विटी फंड (Sector Equity Fund)

Sector Equity Fund में निवेश किसी विशेष क्षेत्र की कंपनी में किया जाता है। सेक्टर फण्ड में किया गया निवेश केवल एक ही क्षेत्र पर केंद्रित रहता है। इसलिए यह बहुत ही जोखिम भरा होता है। लेकिन फण्ड मैनेजर आपके पैसो को उसी कंपनी में निवेश करता है जहाँ मुनाफे की सम्भावना पूरी होती है।

एक उदहारण के तौर पर एक एग्रीकल्चर सेक्टर फण्ड केवल एग्रीकल्चर बेस कंपनियों में ही निवेश करेगा। निवेशकों को सेक्टर इक्विटी फण्ड में निवेश करने से पहले अपने जोखिम उठाने की क्षमता की जाँच कर लेनी चाहिए।

ईएलएसएस इक्विटी फंड (ELSS Equity Fund)

ELSS Equity Fund निवेशकों को आयकर में छूट प्राप्त करने का एक तरीका है। इसमें फण्ड तीन साल के लिए जमा होता है। इसका मतलब आप तीन साल के लिए यहाँ से पैसा नहीं निकल सकते है।

डायवर्सिफाइड इक्विटी फंड (Diversified Equity Fund)

Diversified Equity Fund में सभी तरह की कंपनियों के साथ निवेश किया जाता है। इसका मतलब यह है की इसमें बड़ी, माध्यम, छोटी, और विशेष सेक्टर वाली सभी कंपनियां शामिल है। इस फण्ड में निवेश के लिए बहुत सारे विकल्प मौजूद है।

थीमैटिक फंड (Thematic Fund)

Thematic Fund में निवेश Theme के आधार पर किया जाता है। जैसेकिसी रियल स्टेट कंपनी में किसी प्रोजेक्ट को आधार बनाकर निवेश किया जाता है।

Video Credit:Asset Yogi

यह भी पढ़ें: Share Market क्या है?

Equity Fund में निवेश कैसे करें?

Equity Fund में निवेश करने के लिए आपके पास Demat Account और Trading Account होना बहुत जरुरी है क्योकि इसके बिना आप इक्विटी फण्ड में निवेश नहीं कर सकते है।

इक्विटी फण्ड म्यूच्यूअल फण्ड का ही एक प्रकार है। जब आप Mutual Fund में निवेश करते है तो इक्विटी फण्ड या कोई और फण्ड का चयन करना होता है।

इक्विटी फण्ड मे निवेश करने से पहले यह देख लें की आप कितना जोखिम उठा सकते है। क्योकि इसमें जोखिम कम या ज्यादा हो सकते है।

यदि आपकी क्षमता ज्यादा जोखिम उठाने की है तो आप Small Cap Equity Fund में भी Invest कर सकते है। और अगर जोखिम उठाने की क्षमता कम है तो Large Cap Equity Fund और Mid Cap Equity fund में Invest कर सकते है।

Sector Equity Fund की बात करें तो इसमें Risk ज्यादा होता है। इसलिए कोई भी निवेश करने से पहले पूरी तरह उसकी जाँच पड़ताल अवश्य कर लें।

यदि आप निवेश की शुरुवात कर रहें है तो आप किसी विश्वशनीय ब्रोकर की सलाह लेकर ही निवेश करें। और यदि आपको शेयर बाजार की पूरी जानकारी है तो किसी भी ऑनलाइन App के साथ Demat Account खोल कर सुरुवात कर सकते है।

यह भी पढ़ें: Stock Broker क्या होता है?

यह भी पढ़ें: : Groww App क्या है? Demat Account कैसे खोले?

इक्विटी फण्ड के फायदे।

इक्विटी फण्ड के मुख्य फायदे निम्न है।

  • Equity में निवेश करना जोखिम भरा हो सकता है। लेकिन इसमें सबसे अधिक फायदा भी होता है।
  • म्यूच्यूअल फण्ड में इक्विटी फण्ड में निवेश करना ज्यादा फायदेमंद है। क्योकि क्योकि यहाँ कंपनियों के स्माल कैप, मिड कैप, लार्ज कैप बने हुए रहते है। यहाँ आप अपनी जोखिम के अनुसार निवेश कर सकते है।
  • इक्विटी फण्ड में निवेश एक अनुभवी मैनेजर के हिसाब से किया जाता है। जो कंपनियों की रिसर्च करने के बाद निवेशकों का निवेश किया जाता है।
  • इसमें निवेश अलग-अलग कंपनियों में किया जाता है। इसलिए जोखिम कम हो जाता है।
  • इक्विटी फण्ड में कंपनी की एक मार्किट वैल्यू होती है जिसकी वजह से निवेशक लम्बे समय तक के लिए निवेश कर सकते है।

यह भी पढ़ें: NSE और BSE में अंतर क्या है?

इक्विटी फण्ड के नुकसान।

Equity Fund में जितना फायदा होता है उतना ही नुकसान भी है। क्योकि इसमें पैसा शेयर मार्किट में निवेश किया जाता है। और शेयर मार्किट में हमेशा ऊतार-चढाव देखने को मिलते है। जो एक जोखिम भरा होता है।

Top 5 Equity Mutual Fund Company for Investment.

इक्विटी फण्ड में निवेश करने के लिए मुख्य 5 कम्पनिया निम्न है।

  • TATA Digital India Fund DIRECT Plan Growth
  • Aditya Birla Sun Life Digital India Fund – Growth-Direct Plan
  • ICICI Prudential Technology Fund
  • Quant Small Cap Fund – Direct Plan-Growth
  • L And T Tax Advantage

यह भी पढ़ें: NSE क्या है?

यह भी पढ़ें: BSE क्या है?

निष्कर्ष: म्यूच्यूअल फण्ड में इक्विटी फण्ड क्या है?

दोस्तों, उम्मीद है की मैंने आपको Equity Fund क्या है? इक्विटी म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कैसे करें? के बारे में पूरी जानकारी दी है। और उम्मीद करता हु की इक्विटी फण्ड के प्रकार, लाभ और नुकसान क्या है? आपको अच्छे से समझ में आ गया होगा।

आपको कैसी लगी हमारी पोस्ट इक्विटी फण्ड क्या है? इक्विटी म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कैसे करें? हमें कमेंट बॉक्स में Comment करके जरूर बताये। इसके अलावा आपके मन में कोई सवाल है तो आप comment box में पूछ सकते है। मै पूरी कोशिश करूँगा आपके सवालो का जवाब देने की।

Sonu Singh

Hello friends, I am Sonu Singh, Author & Co-Founder of wekens. Talking about education, I am a graduate. I love to learn and learn about technical news, top story, history. I request you that you keep supporting us in this way and we will continue to provide new information for you. #wekens Team, Digital India, Jai Hind

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.