एनएसई (NSE) क्या है? नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की पूरी जानकारी

NSE Kya Hai: अक्सर आप न्यूज़ पेपर, टीवी चैनल या न्यूज़ मीडिया में एनएसई (NSE) का नाम सुनते होंगे। क्या आप जानते है Share Market में NSE का क्या काम होता है? यदि आप नहीं जानते, तो इस लेख में हम जानेंगे “एनएसई क्या है और एनएसई का मुख्य उद्देश्य और कार्य है?” साथ हम जानेंगे “नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का इतिहास क्या है?”

NSE भारत का सबसे बड़ा और दुनिया 11वां सबसे बड़ा स्टॉक मार्केट है, इसकी स्थापना के पीछे मुख्य उद्देश्य भारतीय शेयर बाजार में पारदर्शिता लाना था। इसके स्थापना के पश्चात भारतीय शेयर बाजार में शेयर्स की खरीद-बिक्री इलेक्ट्रॉनिक तरीके से होने लगी और लगभग सभी कागज़ी कार्यो को ख़त्म कर दिया गया।

NSE Kya Hai- National Stock Exchange

जिसकी वजह से शेयर बाजार में होने वाले Scam पर रोक लगी और निवेशको के हितो की रक्षा और उनके मन विश्वनीयता बन सकी। यदि आप स्टॉक एक्सचेंज में निवेश की सोच रहें है, तो आपको एनएसई के बारे में जानना आवश्यक हो जाता है। यदि आप वास्तव में NSE की पूरी जानकारी चाहते है, तो यह लेख आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाला है।

एनएसई क्या है? (What is NSE)

NSE (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज) भारत का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है जो पूरी तरह से आधुनिक और इलेक्ट्रॉनिक स्टॉक ट्रेडिंग सिस्टम से लैस है। इसकी स्थापना वर्ष 1992 में हुई थी। इसका मुख्यालय मुंबई, महाराष्ट्र, भारत में स्थित है। जिसका मुख्य उद्देश्य निवेशकों को भारतीय शेयर बाजार में निवेश के लिए पारदर्शिता (Transparency) लाना था।

भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास में जितना योगदान BSE (Bombay Stock Exchange) का उतना ही योगदान NSE का है। व्यापार के हिसाब से बात करें तो नेशनल स्टॉक एक्सचेंज विश्व का तीसरा सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है।

NSE का फुल फॉर्म क्या? (Full form of NSE)

NSE का पूरा नाम (Full Form) “National Stock Exchange” है। जिसका हिंदी अर्थ “राष्ट्रीय शेयर बाजार” है। इसकी स्थापना वर्ष 1992 हुई थी। इसका मुख्य उद्देश्य स्टॉक मार्किट में पारदर्शिता लाना था।

Quick Review of NSE in Hindi

Founded1992
TypeStock Exchange
LocationMumbai, Maharashtra, India
Owned ByNational Stock Exchange of India Limited
ChairmanGirish Chandra Chaturvedi
CEO & MDVikram Limaye
CurrencyIndian Rupee
Market CapUS$3.1 trillion (May 2021)
IndicesNIFTY 50
Websitewww.nseindia.com
Review of NSE in Hindi

NSE का इतिहास (History of NSE)

NSE- National Stock Exchange

वर्ष 1992 में हुए घोटाले के बाद, भारत सरकार ने वर्ष 1992 में मुंबई, महाराष्ट्र, भारत में 25 करोड़ की पूंजी के साथ NSE (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड) की स्थापना की।

इस संस्था की स्थापना की सिफारिश एम. जे. शेरवानी ने की थी। वर्ष 1994 में, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज को पूरी तरह से स्वचालित इलेक्ट्रॉनिक प्रणाली बना दिया गया था। ताकि निवेशक भारतीय बाजार में ज्यादा से ज्यादा निवेश कर सकें।

NSE के अंतर्गत लगभग 2000 से ज्यादा कम्पनियां पंजीकृत (Registered) है। किसी भी कंपनी को एनएसई में शामिल होने के लिए SEBI से रजिस्ट्रेशन करवाना होता है। उसके बाद ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में कोई कंपनी शामिल हो सकती है।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का मुख्य सूचकांक “NIFTY-50” है जिसके अंतर्गत 50 प्रमुख कंपनियां शामिल है। NIFTY-50 की शुरुवात वर्ष 1996 की गयी थी।

NIFTY-50 लिस्ट में शामिल कंपनियों का समय-समय पर आंकलन किया जाता है। और जिन कंपनियों का प्रदर्शन अच्छा है उन्हें इस लिस्ट में शामिल किया जाता है और जिनका ख़राब है उन्हें इस लिस्ट से हटा दिया जाता है।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज NIFTY-50 का उपयोग निवेशकों द्वारा बड़े पैमाने पर भारत सहित पूरी दुनिया में भारतीय पूंजी बाजार के बैरोमीटर के रूप में किया जाता है।

एनएसई का मार्केट कैपिटलाइजेशन कितना है?

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का मार्किट कैपिटलाइजेशन वैल्यू 3 ट्रिलियन यूएस डॉलर से अधिक है, जो इसे मई 2021 तक दुनिया का 10वां सबसे बड़ा शेयर मार्केट बनाता है।

SEBI के आने के बाद Stock Exchange में बहुत बड़े बदलाव देखने को मिलें है। जिसमे सबसे बड़ा बदलाब स्टॉक मार्किट को पूरी तरह से Online किया गया है।

शेयर बाजार ऑनलाइन होने की वजह से निवेशकों का निवेश बढ़ गया है।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का मुख्य उद्देश्य क्या है?

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का मुख्य उद्देश्य निम्न प्रकार से है।

  • निवेशकों को शेयर खरीदने और बेचने की सुविधा प्रदान करना।
  • निवेशक सामान रूप से शेयर्स और सिक्योरिटीज को ख़रीदे और बेचें।
  • स्टॉक मार्किट को निष्पक्ष और पारदर्शी बनाना।
  • कम समय में खरीदे और बेचे गए शेयरों का स्थानांतरण करना।
  • अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप प्रतिभूति (Securities) बाजार की स्थापना करना।

NSE का बेंचमार्क क्या है? (Benchmark of NSE)

एनएसई का बेंचमार्क या इंडेक्स Nifty-50 है। जिसमें भारत की शीर्ष 50 कंपनियों को उनके प्रदर्शन और क्षेत्र के आधार पर स्थान दिया गया है। इन कंपनियों का समय-समय पर मूल्यांकन किया जाता है। जिसके आधार पर यह तय होता है कि निफ्टी-50 में किस कंपनी को शामिल करना है और किस कंपनी से बाहर निकलना है।

NSE में निवेश करना महत्वपूर्ण क्यों है?

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में निवेश करना बहुत ही आसान है। क्योकि यह पूरी तरह से आटोमेटिक इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम पर आधारित कार्य करता है।

NSE भारत का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है और दुनिया का 11वां सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है। जिसको

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज SEBI (Securities and Exchange Board of India) द्वारा मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंज है।

एनएसई में निवेशकों के निवेश करने के लिए किसी पेपर वर्क की जरुरत नहीं होती है क्योकि यह पूरी तरह से डिजिटल वर्क करता है।

Video Credit: Trade with Arun

यह भी पढ़ें:

FAQ: नेशनल स्टॉक एक्सचेंज से सम्बंधित पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण सवाल।

भारत का सबसे बड़ा स्टॉक कौनसा है?

भारत का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज नॅशनल स्टॉक एक्सचेंज है जिसकी स्थापना वर्ष 1992 में हुई थी। यह पूरी तरह से Automatic Electronic System से लेस्स भारत का पहला स्टॉक एक्सचेंज है।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का मालिक कौन है?

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के वर्तम में चेयरमैन गिरीश चंद्र चतुर्वेदी है।

NSE (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज) का मुख्यालय कहाँ स्थित है?

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का मुख्यालय मुंबई, महाराष्ट्र , भारत में स्थित है।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का मार्किट कैपिटल वैल्यू कितना है?

वर्तमान में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का मार्किट कैपिटल वैल्यू लगभग 2.87 ट्रिलियन यूएस डॉलर है।

NSE में Nifty क्या है?

NSE का इंडेक्स Nifty-50 है। इसे निफ़्टी-50 इसलिए कहा जाता है क्योकि इसमें देश की प्रमुख 50 कंपनियों को शामिल किया गया है।

क्या NSE में सीधे तौर पर निवेश कर सकते है?

कोई भी निवेशक शेयर बाजार में सीधे तौर पर कोई शेयर नहीं खरीद सकता है। उसके लिए, निवेशक को एक स्टॉकब्रोकर से मिलकर एक डीमैट और ट्रेडिंग खाता खोलना होगा। उसके बाद ही वह एनएसई में कोई शेयर खरीद या बेच सकता है।

एनएसई का CEO कौन है?

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के वर्तमान में CEO (Chief executive officer) श्री विक्रम लिमये है।

NSE में कितनी कंपनियां लिस्टेड हैं?

NSE का बेंचमार्क NIFTY इंडेक्स है, जिसमे 50 कंपनिया इंडेक्स है। इसलिए इसे निफ्टी-50 के नाम से भी जानते है।

निष्कर्ष? NSE क्या है?

दोस्तों, उम्मीद है की मैंने आपको NSE क्या है? नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की पूरी जानकारी दी है। और उम्मीद करता हु की NSE का इतिहास और उद्देश्य आपको अच्छे से समझ में आ गया होगा।

आपको कैसी लगी हमारी पोस्ट एनएसई क्या है? नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की पूरी जानकारी। हमें कमेंट बॉक्स में Comment करके जरूर बताये। इसके अलावा आपके मन में कोई सवाल है तो आप comment box में पूछ सकते है। मै पूरी कोशिश करूँगा आपके सवालो का जवाब देने की।

नमस्ते! मेरा नाम सोनू सिंह है और इस Best Hindi Blog पर अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से Blogging, Earn Money, बैंकिंग, इंटरनेट, टेक्नोलॉजी आदि से संबंधित उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूं। साथ ही मैं WeKens.com का Founder भी हूं। हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद!

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.