QR Code क्या होता है? जानिए क्यूआर कोड कैसे बनाये और Scan करें?

QR Code: आम तौर पर आज कल QR Code का इस्तेमाल बहुत तेजी के साथ होने लगा है। आपने भी शौपिंग के दौरान क्यूआर कोड को देखा होगा। अगर UPI Apps का इस्तेमाल करते है तो क्यूआर कोड के जरिये किसी को भुगतान जरुर किया होगा। लेकिन क्या आप जानते है ये QR Code क्या होता है और इस हम कैसे बना सकते है?

अगर आप क्यूआर कोड के बारे में पूरी जानकारी चाहते है तो या लेख आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाला है। इस लेख में आपको बताएँगे QR Code क्या है?, QR Code की विशेताएँ और उपयोगिता क्या है?, क्यूआर कोड को अपने बिज़नस के लिए कैसे बनाये?, साथ ही हम जानेंगे क्यूआर कोड फायदे और नुकसान क्या है

QR-Code-kya-hota-hai-kaise-banaye

आएये बिना आपका समय गवाएं जानते है QR Code क्या होता है?

QR Code क्या होता है? (What is QR Code in Hindi)

क्यूआर कोड (Quick Response Code) एक प्रकार का पैटर्न बारकोड है। जिस उत्पाद पर यह कोड लगाया जाता है, उस उत्पाद की पूरी जानकारी क्यूआर कोड में छिपी होती है। इसे पढ़ने के लिए बारकोड रीडर मशीन या स्मार्टफोन का इस्तेमाल किया जाता है।

क्यूआर कोड का आविष्कार जापानी ऑटोमोटिव कंपनी डेंसो वेव ने वर्ष 1994 में किया था। क्यूआर कोड बारकोड की तुलना में बहुत तेज होता है। क्योकि बारकोड 1 Dimension का होता है और क्यूआर कोड 2 Dimension का होता है।

QR Code की मुख्य विशेषताएं।

  • QR Code को स्मार्टफोन की मदद से स्कैन किया जा सकता है।
  • क्यूआर कोड में कई तरह के डाटा को स्टोर कर सकते। जैसे- Binary, Numerical, Alphabetic
  • इसमें 2 डायमेंशन होने से बार कोड की तुलना बहुत तेज काम करता है।
  • बार कोड की तुलना में इसमें ज्यादा इनफार्मेशन को स्टोर किया जा सकता है।
  • QR कोड निर्माता कई तरह की जानकारी को ट्रैक कर सकता है। जैसे- नाम, Email ID, Scan Time, Location, आदि।

क्यूआर कोड का उपयोग

क्यूआर कोड का इस्तेमाल कई तरह के उद्देश्यों के लिए किया जाता है। लेकिन QR Code का इस्तेमाल विशेष तौर पर डाटा को रखने लिए किया जाता है। वर्तमान में क्यूआर कोड का सबसे ज्यादा इस्तेमाल निम्न प्रकार से किया जाता है।

  • E-Commerce कंपनिया अपने ग्राहकों को ऑफर देने के लिए Promo Code को क्यूआर कोड के रूप में इस्तेमाल करती है।
  • ब्रांड कंपनिया अपने प्रोडक्ट पर क्यूआर कोड का इस्तेमाल करती है। ताकि ग्राहक उस क्यूआर कोड के जरिये प्रोडक्ट सही जानकारी मिल सके।
  • कंपनिया अपने बिज़नस विज्ञापन में क्यूआर कोड का इस्तेमाल करती है ताकि यूजर सीधे उनके अधिकृत वेबसाइट तक जल्दी पहुच सकें।
  • बिज़नस मीटिंग पार्टी में गेस्ट को Invitation भेजने के लिए QR Code का इस्तेमाल जाता है।
  • QR Code के रूप में Visiting Card कार्ड बना सकते है। जिसमे आप नाम, मोबाइल नंबर, Email ID, Address स्टोर करके किसी को भेज सकते है।
  • वेबसाइट के यूआरएल को क्यूआर कोड के रूप उपयोग किया जाता है।
  • Payment के लिए QR Code का इस्तेमाल किया जाता है। जैसे- Mobikwik, Google Pay, Paytm, PhonePe, आदि।
  • किसी को अपनी Business Location भेजने के लिए क्यूआर कोड का इस्तेमाल किया जाता है।
  • अपने दोस्तों को Wi-Fi शेयर करने के लिए Password की जगह QR Code का इस्तेमाल कर सकते है।
  • e-Invoice में QR Code का इस्तेमाल किया जाता है।
  • Aadhaar Card, Driving License, PAN Card, आदि में QR Code का इस्तेमाल किया जाता है।

इसके अलावा अन्य कई महतवपूर्ण जगहों पर क्यूआर कोड का इस्तेमाल किया जाता है।

आएये जानते है QR Code का मतलब क्या है?

QR Code का पूरा नाम क्या है?

QR Code का फुल फॉर्म “Quick Response Code” है जिसका हिंदी अर्थ “त्वरित प्रतिक्रिया कोड” होता है। यह बारकोड का ही एक रूप होता है लेकिन बारकोड समस्तरीय रूप से जानकारी को रखता है। जबकि क्यूआर कोड समस्तरीय (Horizontal) और लम्बवत (Vertical) दोनों तरह से जानकारी रखता है। यही खासियत क्यूआर कोड को बारकोड की तुलना में सौ गुना अधिक जानकारी रखने में सक्षम बनती है।  

क्यूआर कोड की बनावट कैसी होती है? (Stracture of QR Code)

Structure-of-QR-Code
Structure-of-QR-Code

QR Code की बनावट वर्गाकार होती है। जिसके सफ़ेद बैकग्राउंड के ऊपर काले वर्गाकार बॉक्स बने हुए होते है। इसके अलावा क्यूआर कोड के तीन हिस्सों में वर्गाकार बॉक्स बने हुए होते है। इस कोड को जिस आइटम पर लगाया जाता है उस आइटम को सभी जानकारी क्यूआर कोड में स्टोर होती है।

क्यूआर कोड का इतिहास।

QR Code कोड का अविष्कार जापान की Toyoto Group की एक कंपनी Denso Wave ने वर्ष 1994 में किया था। इस कोड को वाहनों की सही तरीके से ट्रेकिंग करने के लिए बनाया गया था।

लेकिन धीरे-धीरे क्यूआर कोड का इस्तेमाल सभी सामानों को ट्रैक करने के लिए किया जाने लगा है। आज के समय में क्यूआर कोड का इस्तेमाल e-Payment करने के लिए भी किया जाने लगा है।

वर्तमान समय में क्यूआर कोड के जरिये भुगतान करने का विकल्प Paytm, PhonePe, BHIM UPI, Google Pay, जैसे बेस्ट यूपीआई एप्प मिलता है।

QR Code कितने प्रकार के होते है?

QR Code की बनावट और उपयोग के आधार पर इसे दो भागो में बता गया है। जो निम्न प्रकार से है।

  1. स्थिर क्यूआर कोड (Static QR Code)
  2. गतिशील क्यूआर कोड (Dynamic QR Code)

स्थिर क्यूआर कोड (Static QR Code)

Static QR Code में एक बार जानकारी स्टोर होने के बाद इसे बदल नहीं सकते है। इसलिए इस तरह के कोड का इस्तेमाल उस जगह किया जाता है जहाँ जानकारी को बदलने की जरुरत नहीं होती है।

इस तरह के क्यूआर कोड का इस्तेमाल ज्यादातर विज्ञापनों, टीवी, न्यूज़ पेपर, यूआरएल वेबसाइट, डिजिटल कार्ड, आदि के लिए किया जाता है।

इस तरह के क्यूआर कोड को आप Free में बना सकते है।

गतिशील क्यूआर कोड (Dynamic QR Code)

Dynamic QR Code में स्टोर की गयी जानकारी को जरुरत के अनुसार बदल सकते हैं। इस कोड का इस्तेमाल करने वाला कई तरह की जानकारी को ट्रैक कर सकते है।

इस तरह के कोड का इस्तेमाल ज्यादातर उन जगहों पर किया जाता है जहाँ जानकारी को बार-बार बदलने की जरुरत होती है। जैसे कंपनी प्रोडक्ट, पेमेंट गेटवे, आदि।

इस तरह के क्यूआर कोड को बनाने के लिए कुछ भुगतान करना पड़ता है।

Barcode और QR Code में अंतर क्या है?

Barcode और QR Code में मुख्य अंतर निम्न प्रकार से है।

  • बारकोड का आकर Vartical होता है जबकि QR Code का आकर वर्गाकार होता है।
  • बारकोड की तुलना में क्यूआर कोड में सौ गुना ज्यादा डाटा स्टोर किया जा सकता है।
  • QR Code में 2 Dimension होते है जबकि Barcode में 1 Dimension होता है।
  • क्यूआर कोड में हम 7089 अंको तक डाटा को स्टोर कर सकते है जबकि बारकोड में 30 अंको तक डाटा को स्टोर कर सकते है।
  • बारकोड को बाएं से दायें पढ़ा जाता है जबकि क्यूआर कोड को किसी भी हिस्से से रीड किया जा सकता है।
  • बारकोड का कोई भी हिस्सा कट और फट जाता है तो उसे स्कैन नहीं जा सकता है, जबकि क्यूआर कोड कोई हिस्सा कट-फट जाता है तो जानकारी हांसिल की जा सकती है।
  • Barcode को स्कैन करने के लिए Barcod Reader Machine की आवश्यकता होती है जबकि QR Code को स्कैन करने के लिए किसी मशीन की जरुरत नहीं होती है। आप इसे अपने स्मार्टफ़ोन की मदद से स्कैन करके जानकारी हासिल कर सकते है।
  • बारकोड का ज्यादातर इस्तेमाल प्रोडक्ट बिक्री, FASTag, आदि के लिए किया जाता है जबकि क्यूआर कोड का इस्तेमाल कई तरह के विशेष डाटा को स्टोर करने के लिए किया जाता है। जैसे- Payment, Visiting Card, आधार कार्ड, पैन कार्ड, लाइसेंस, आदि।

Free में QR Code कैसे बनाये?

आप अपने बिज़नस प्रोडक्ट, विसिटिंग कार्ड, वेबसाइट यूआरएल, मोबाइल एप्प के लिए आसानी से QR Code बना सकते है। ऑनलाइन कई ऐसी वेबसाइट है जो आपको फ्री में क्यूआर कोड बनाने की सुविधा प्रदान करती है। मगर इसके लिए आपके पास स्मार्टफोन या कंप्यूटर होना चाहिए।

Online QR Code बनाने के लिए निचे दिए गए वेबसाइट का इस्तेमाल कर सकते है।

ऊपर दिए गए किसी भी वेबसाइट से अपना खुद का क्यूआर कोड बनाने के लिए निम्न स्टेप्स को फॉलो करें।

  • सबसे पहले QR Code Generator वेबसाइट को ओपन करें।
  • यहाँ आपको QR Code बनाने के लिए URL, Free text, Contact, और App के ऑप्शन मिलेंगे। आप जिस काम के लिए QR कोड बनाना चाहते है उस ऑप्शन को चुने।
    • URL-वेबसाइट QR Code बनाने के लिए।
    • Free Text- SMS बनाने के लिए
    • Contact- Visiting Card बनाने के लिए।
    • App- मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए ।    
  • जैसे हमें वेबसाइट के लिए QR Code बनाना है तो हम यहाँ URL चुनेंगे।
  • इसके बाद हम अपनी वेबसाइट का URL टाइप करेंगे। जैसे – https://www.wekens.com/
  • URL type करते ही हमारा QR Code बन जायेगा।
  • आपको यहाँ QR Code Download और Copy करने का ऑप्शन मिलेगा जिस पर क्लिक करके डाउनलोड या Copy कर सकते है। और जहाँ इस्तेमाल करना है वहां कर सकते है।   

आप ऊपर दिए गए वेबसाइट का उपयोग करके अपना खुद का फ्री में QR Code Generate कर सकते है।

किसी भी QR Code को Scan कैसे करें।

QR-Code-Scan-by-Smartphone
QR-Code-Scan-by-Smartphone

आज कल सभी स्मार्टफोन में QR Code Scanner इनबिल्ट आता है। अगर आपके पर स्मार्टफोन है तो आप इसकी मदद से किसी भी QR Code को आसानी से Scan कर सकते है।

अगर आपके स्मार्टफोन में QR Code Scanner नहीं है तो आपको Google Play Store पर कई QR Code Scanner App मिल जायेंगे जिन्हें Download कर सकते है।

आप QR & Barcode Scanner App को डाउनलोड कर सकते है। यह एक बहुत ही सुरक्षित और पोपुलर एप्प है किसी भी क्यूआर कोड और बारकोड को स्कैन करने के लिए। इस एप्प का इस्तेमाल करने के लिए निचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • अपने फ़ोन में QR & Barcode Scanner App को Download करने के बाद ओपन करें।
  • ओपन करते ही QR Code Scanner चालू हो जाता है।
  • आप जिस QR Code को स्कैन करना चाहते है उसके ऊपर कैमरा लेकर जाएँ।
  • जैसे ही आप उस QR Code पर लेकर जायेंगे, उस QR Code की इनफार्मेशन आपके मोबाइल पर दिखने लगेगी।
  • आप चाहिए तो स्कैन की गयी जानकारी को Save भी कर सकते है।

इस तरह से आप बड़ी आसानी से किसी भी QR Code या Barcode को Scan कर जानकारी हासिल कर सकते है।

QR Code के फायदे।

QR Code इस्तेमाल करने के निम्न फायदे है।

  • क्यूआर की मदद से e-Payment बहुत तेजी के साथ कर सकते है।
  • क्यूआर कोड की मदद से यूजर को डायरेक्ट अपने वेबसाइट पर भेज सकते है।
  • App को डाउनलोड करने के लिए User को QR Code भेज सकते है।
  • बिज़नस Visiting Card की इनफार्मेशन को QR Code में स्टोर करके किसी को भी आसानी से भेज सकते है।
  • QR Code की मदद से बिना मोबाइल नंबर दिखाए SMS भेज सकते है।
  • अपनी बिज़नस लोकेशन को क्यूआर कोड के रूप में भेज सकते है।
  • प्रोडक्ट की बिक्री बढ़ने के लिए Promo Code के रूप में QR Code का इस्तेमाल कर सकते है।
  • सामानों की ट्रैकिंग के लिए क्यूआर कोड का इस्तेमाल कर सकते है।

क्यूआर कोड के नुकसान।

QR code इस्तेमाल करने के फायदे भी है तो कुछ नुकसान भी है।

  • QR Code दिखने में एक जैसा ही दिखाई देता है जिसकी वजह पता लगाना मुश्किल होता की हम जिस QR Code को स्कैन कर रहे है वह विश्वसनीय है या नहीं।
  • Cyber Attacker कई बार इस तरह कोड का इस्तेमाल करके आपको नुकसान पहुचने की कोशिश करते है। इसलिए हर किसी QR Code को स्कैन करने से बचें।

Video Credit: Ishan Monitor

इन्हें भी पढ़ें:

FAQ for QR Code in Hindi

QR Code का फुल फॉर्म क्या है?

QR Code का फुल फॉर्म Quick Responce Code होता है।

क्यूआर कोड का अविष्कार किसने किया था?

क्यूआर कोड का अविष्कार वर्ष 1994 में जापान की एक कंपनी Denso Wave ने किया था।

Payment के लिए इस्तेमाल होने वाला QR Code किस प्रकार का होता है?

Payment के लिए इस्तेमाल होने वाला कोड Dynamic QR Code होता है।

क्या मै Visiting Card के लिए QR Code बना सकता हूँ?

हाँ, आप फ्री में Visiting Card के लिए QR Code बना सकते है।

बारकोड और क्यूआर कोड में अंतर क्या है?

बारकोड और क्यूआर कोड में मुख्य अंतर यह है की, बारकोड में केवल 1 Dimension होता है जबकि क्यूआर कोड में 2 Dimension होते है।

फोन से क्यूआर कोड को स्कैन कैसे करें?

आप क्यूआर कोड को अपने स्मार्टफोन के कैमरे से स्कैन कर सकते है। जिसके लिए आपको QR Code Scanner App की आवश्यकता होती है। जिसे आप प्ले स्टोर से डाउन लोड कर सकते है।

निष्कर्ष: क्यूआर कोड क्या है हिंदी में।

म्मीद करता हु की आपको हमारा लेख QR Code क्या होता है? जानिए फोन से कैसे बनाये और Scan करें? आपको समझ में आ गया होगा। अगर आपके मन में क्यूआर कोड से सम्बंधित किसी प्रकार का सवाल है तो कमेंट करके पूछ सकते है। हम आपके सवालो का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे। अगर आपको लेख पसंद आये तो इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

नमस्ते! मेरा नाम सोनू सिंह है और इस Best Hindi Blog पर अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से Blogging, Earn Money, बैंकिंग, इंटरनेट, टेक्नोलॉजी आदि से संबंधित उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूं। साथ ही मैं WeKens.com का Founder भी हूं। हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद!

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.