Internet क्या है? और इंटरनेट का इतिहास क्या है?

इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे की इंटरनेट क्या है ? (What is Internet?). इंटरनेट का इतिहास क्या है ? और इसका हमारे दैनिक जीवन उपयोग और फायदे क्या है ? इंटरनेट का पूरा नाम ‘Interconnected Network‘ है।

इसके के जरिये हम, अपने विचारो तथा सूचनाओं को एक स्थान से दूसरे स्थान पर आसानी से ले जा सकते है। अगर आप किसी अन्य राज्य या देश में अपने किसी दोस्त, रिस्तेदार, या बिज़नेस से जुडी सुचना को देना चाहते है तो इंटरनेट के जरिये आसानी दे सकते है।

इंटरनेट का उपयोग अक्सर सूचनाओं को आदान-प्रदान के लिए किया जाता है। इंटरनेट को सुचना का सुपरहाईवे (Information Superhighway) भी कहा जाता है।

इसके जरिये आप यातायात, मनोरंजन, परीक्षा सामग्री, वित्तीय समाचार, जनरल नॉलेज आदि से सम्बन्धी जानकारी को आसानी से हांसिल कर सकते है।

साथ ही आप अपने दोस्तों, रिस्तेदारो और बिज़नेस इनफार्मेशन को आसानी से एक्सचेंज कर सकते है। Internet करोडो लोगो और संस्थाओं को आपस में जोड़ता है।

इंटरनेट क्या है? (What is Internet?)

इंटरनेट Information Communication का Global Computer Network है। जो उपयोगकर्ता के सूचनाओं के आदान- प्रदान करने का कार्य करता है। आज हर क्षेत्र की जरुरत बन चूका है। Internet (अंतराजाल) दो शब्दों से मिलकर बना है – Inter शब्द जिसका अर्थ है एक दूसरे से जुड़ना और Net का अर्थ है जाल। यह हमें online-word से जोड़कर Digital Information प्रदान करता है। इंटरनेट सेवा क्लाइंट /सर्वर मॉडल पर कार्य करती है।

What is Internet
What is Internet

Internet और Telephone का कार्य करने का तरीका लगभग एक जैसा होता है। यह कंप्यूटर को इंटरनेट से ठीक उसी तरह जोड़ता है जैसे एक फ़ोन को टेलीफोन सिस्टम से जोड़ते है। जब आप इंटरनेट का इस्तेमाल करते है तब आप पूरी दुनिआ से जुड़े होते है।

आपका कंप्यूटर इंटरनेट से जुड़ने के बाद एक विशाल कंप्यूटर की तरह हो जाता है जिसकी शाखाएँ पूरी दुनिया में फैली हुई है।

Internet एक्सेस प्राप्त करने लिए सर्विस प्रोवाइडर से आपको कनेक्शन लेना होता है जैसे आप टेलीफोन या मोबाइल के लिए लेते है।

इंटरनेट में Communication के लिए बहुत सारे Standard Internet Protocol का प्रयोग किया जाता है। जिससे डाटा ट्रांसफर को बनाये रखने में मदद मिलती है।

सभी Internet यूजर के पास एक IP Address होता है। जो की यूनिक आइडेंटिटी नंबर होता है। जिससे कंप्यूटर यूजर की पहचान और स्थान का पता लगाया जा सके।

अधिकतर Internet सेवा क्लाइंट /सर्वर मॉडल पर कार्य करती है। जो कंप्यूटर फाइल रिसीव करता है वह क्लाइंट कहलाता है और जब फाइल सेंड करता है तो सर्वर बन जाता है।

यह भी पढ़ें – WhatsApp Tricks

इंटरनेट का इतिहास (History of Internet)

Internet का अविष्कार किसी एक व्यक्ति ने नहीं किया। इंटरनेट का अविष्कार करने में बहुत से scientist, प्रोफेसर का हाथ है। इंटरनेट की शुरुवात वर्ष 1969 में हुआ था। सयुंक्तराष्ट अमेरिका की सेना ने युद्ध की स्थिति में संचार व्यवस्था को सुरक्षित बनाने के लिए इंटरनेट का निर्माण किया था।

इस दौरान अमेरिका दवारा ARPANET (Advance Research Project Agency Network) नामक एक नेटवर्क को Develop किया। जिसका मकसद कंप्यूटर व्यवस्था को नेटवर्क से जोड़ना था। जो धीरे- धीरे कम्युनिकेशन नेटवर्क में बदल गया। इसका इस्तेमाल सेना और शोधकर्ता करने लगे।

Internet नेटवर्क का इस्तेमाल करने के लिए स्टैण्डर्ड प्रोटोकॉल के समूह को विकसित किया गया जिसके माध्यम से लोग एक दूसरे से कम्युनिकेशन बना सके और डाटा को एक दूसरे से शेयर कर सके।

वर्ष 1980 में नेशनल साइंस फाउंडेशन (NSFNet) ने हाई स्पीड कंप्यूटर को जोड़कर एक नेटवर्क तैयार किया। जिसके बाद में इसका नाम इंटरनेट हो गया।

वर्ष 1991 में नेशनल रिसर्च एंड एजुकेशन नेटवर्क (NREN) की स्थापना की गयी। जिसका मकसद शोध और शिक्षा से सम्बंधित जानकारियों के आदान प्रदान के लिए हाई स्पीड नेटवर्क को Develop करना था।

वर्ष 1991 में स्विट्ज़रलैंड में सेण्टर फॉर यूरोपियन नूक्लियर रीसर्च (CERN)में पहली बार Web को प्रदर्शित किया गया। इस से पहले इंटरनेट में केवल Text का इस्तेमाल किया जाता था।

इस से पहले किसी प्रकार के ग्राफ़िक, वीडियो, आवाज़ , एनीमेशन का इस्तेमाल नहीं होता था। web में इन सभी विषयों को शामिल किया गया।

इसके बाद Internet पर उपलब्ध संसाधनों के लिए एक मल्टीमीडिया इंटरफ़ेस प्रदान किया। जिसके बाद इंटरनेट और वेब आज के समय के सबसे शक्तिशाली टूल बन चुके है।

इंटरनेट का इस्तेमाल क्या है? (What is use of Internet)

Research (शोध )

Research करने के लिए बहुत सी जानकारी एकत्र करनी होती है बहुत ही। जिसके लिए रिसर्च करने वाले व्यक्ति को बहुत सारे विषयों पढ़ना होता था। जिसके लिए बहुत से बुक्स को एकत्र करना और फिर उसको पढ़ने में बहुत सारा समय ख़राब हो जाता था। जो की एक शोध कर्ता के लिए बहुत ही कठिन भरा कार्य होता था ।

लेकिन जबसे Internet का विकास हुआ है। शोधकर्ता के लिए जानकारियां को एकत्र करना बहुत ही आसान हो गया है। Internet पर एकमात्र क्लिक से दुनिया की लाखो बुक्स उपलब्ध हो जाती है। जिससे से कई विषयों को एक साथ पढ़ सकता है और कुछ ही समय में बहुत सी जानकारियों को आसानी से हासिल कर सकता है।

आज के समय में शोधकर्ताओं के लिए लाखों जानकारियां इंटरनेट पर उपलब्ध है। कम समय में अधिक जानकारी मिल जाने से शोधकर्ता एक शोध तक पहुंच पाता है।

Communication (संचार)

आज के समय में Internet के माध्यम से Communication करना और सूचनाओं का आदान -प्रदान करना बहुत ही आसान हो गया है। इंटरनेट के आने से पहले सूचनाओं का आदान- प्रदान करना बहुत ही मुश्किल होता था जिसमे समय बहुत ख़राब होता था।

लेकिन जब से Internet हमारे जीवन में आया है कम्युनिकेशन को बहुत ही आसान बना दिया है। इसके माध्यम से पूरी दुनिया में कही भी अपने मित्र तथा परिवार के साथ E-mail का आदान -प्रदान कर सकते है। लाखो इंटरनेट यूजर्स रोज Social Media का इस्तेमाल करते है एक दुसरे से communicate करने के लिए।

Internet के दवारा कम्युनिकेशन करने के लिए बहुत से विकल्प मौजूद है। जिसमे E-mail, Text, Voice Chats, तथा Video Conferencing के विकल्प मौजूद है जिसके जरिये सूचनाओं का आदान प्रदान कर पा रहे है।

इंटरनेट दवारा प्रदान की गयी कम्युनिकेशन व्यवस्था हमारे लिए किसी उपहार से कम नहीं है। Internet के दवारा इंस्टेंट मैसेजिंग के लिए सोशल मीडिया कुछ उदाहरणों में से एक है।

Financial transaction (वित्तीय लेन-देन)

Financial Transaction से मतलब Transfer of currency से है। Internet के दवारा ऑनलाइन करेंसी को ट्रांसफर करना बहुत ही आसान हो गया है। इंटरनेट के माध्यम से आप अपने बैंक से पूरी दुनिया में कही भी ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर कर सकते है।

ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने के लिए आपको अपने बैंक से ऑनलाइन सर्विस को एक्टिवटे करना होगा। एक बार बैंक की ऑनलाइन सर्विस को प्राप्त करने के बाद बैंक की वेबसाइट से लॉगिन कर के पैसे को ऑनलाइन ट्रांसफर कर सकते है।

इसके अलावा इंटरनेट ने Plastic Currency को डेवेलोप किया है जिसे Debit Card, Credit Card कहते है। जिसके दवारा आप ATM (Automated Teller Machine) से पैसो का लेनदेन कर सकते है। साथ ही Online Transaction भी कर सकते है।

Shopping (खरीददारी)

Internet का तेज गति से विकास होने से लोग Online Shopping करने लगे है। और ऑफलाइन शॉपिंग में कमी आने लगी है। लोग कोई भी सामान घर बैठे दुनिया के किसी भी कोने से ऑनलाइन मंगवा सकते है।

आप यहाँ विंडो शॉपिंग, नया फैशन की सस्ती वस्तुओं को सर्च कर शॉपिंग कर सकते है। यहाँ कोई भी Product को देख सकते है तथा बहुत सारे ब्रांड प्रोडक्ट के Price को एक साथ compare कर Order देकर घर पर ही मंगवा सकते है।

Education or E-Learning (एजुकेशन या ई- लर्निंग)

Internet के विकास ने एजुकेशन के दुनिया में क्रांति लाने का कार्य किया है। इसके दवारा एजुकेशन का स्तर पहले से बेहतर हो चूका है। आज के समय में E-Learning के बहुत से विकल्प इंटरनेट पर मौजूद है। जैसे Online Tutorials, Online Courses, YouTube आदि है।

जिसके माध्यम से स्टूडेंट घर बैठे किसी भी Subject के बारे में एक अच्छी एजुकेशन हासिल कर सकते है। इसमें स्टूडेंट को वो सभी जानकारियां Video Tutorial के माध्यम से एक साथ मिल जाती जिसके बारे में वो जानना चाहता है। जिसे समझना और याद करने स्टूडेंट्स के लिए आसान होता है।

Entertainment (मनोरंजन)

धीरे-धीरे Internet मनोरंजन का साधन बन चूका है। इंटरनेट पर मनोरंजन के लिए बहुत से विकल्प मौजूद है। यहाँ आप संगीत, मूवीज, न्यूज़, तथा गेम्स का मजा ले सकते है। साथ ही इंटरनेट के माध्यम से बहुत सी कहानिया पढ़ने को मिल जाती है।

आप चाहें तो आप भी लोगो का मनोरंजन कर सकते है। ऐसे बहुत से सोशल मीडिया प्लेटफार्म है जहा जाकर अपने दवारा बनाये वीडियो को शेयर कर सकते है। जिनमे से एक प्लेटफार्म YouTube भी है।

युटुब पर मनोरंजन के लिए नए पुराने सभी तरह के संगीत, मूवीज, कॉमेडी वीडियो, और भी बहुत से मनोरंजन के वीडियो देखने को मिल जायेंगे। आप यह सुविधा यूट्यूब पर निशुल्क उपलब्ध है।

Real Time Update

Internet के दवारा आपको पूरी दुनिया की लेटेस्ट जानकारियां प्राप्त होती है। इंटरनेट से आप 24 घंटे लेटेस्ट न्यूज़ को प्राप्त करने में सक्षम है।

आप इंटरनेट से जुड़कर राजनीती, खेल , मनोरंजन, वित्तीय, और भी बहुत से सामाजिक मुद्दों से सम्बंधित जानकारिया प्राप्त कर सकते है।

E-Governance (ई-गवर्नेस)

Internet के माध्यम से हम सरकार की सभी सुविधाओं और जानकारियों को आसानी से प्राप्त कर सकते है। आज के समय में दुनिया की सभी सरकारें E- Governance की दिशा में कदम बढ़ा रही हैं। जिसके दवारा सरकारी सेवाएं ऑनलाइन उपलब्ध करवा कर लोगो तक पहुंचना है।

आप भारत में सरकारी सुविधा जैसे आधार कार्ड , राशन कार्ड, पेंशन योजना , सरकारी नौकरी आदि बहुत सी सुविधाओं का लाभ लें सकते है। डिजिटल इंडिया कार्यक्रम ई -गवर्नेंस की तरफ एक नया कदम है।

Internet के फायदे (Advantage) क्या है?

  • Internet के माध्यम से, हम सेकंड में दुनिया की Latest News प्राप्त कर सकते हैं।
  • नेट के माध्यम से हम अपने राशन कार्ड, पैन कार्ड, आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड जैसे महत्वपूर्ण सरकारी दस्तावेज आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।
  • इंटरनेट के माध्यम से, हम किसी भी सरकारी विभाग या गैर-सरकारी विभाग के लिए नई नौकरी के बारे में जानकर आवेदन कर सकते हैं।
  • हम Internet के माध्यम से ऑनलाइन बैंक सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। जिसके जरिए दुनिया में किसी को भी मिनटों में पैसा ट्रांसफर कर सकते है।
  • Internet के माध्यम से सोशल मीडिया जैसे प्लेटफार्म से जुड़कर अपने दोस्तों, रिस्तेदारो, परिवारजन के साथ आसानी से बात कर सकते है. यही नहीं इसके माध्यम से आप वीडियो कॉन्फ्रेंस, वौइस् चैट्स, फोटो शेयर भी कर सकते है।
  • नेट के माध्यम से हम रोजमर्रा की सेवाओं के लिए आसानी से भुगतान कर सकते हैं। जैसे बिजली का बिल, टेलीफोन का बिल, पानी का बिल, बस का टिकट, ट्रेन का टिकट, हवाई टिकट, टैक्सी की बुकिंग इत्यादि मामूली काम कर सकते हैं।
  • Internet के माध्यम से हम, अपना मोबाइल सिम रिचार्ज, डिश टीवी रीचार्ज, घरेलु गैस बुकिंग, आदि कार्य कर सकते है।
  • इसके के जरिए हम घर बैठे, स्कूल, कॉलेज, इंस्टीट्यूट में एडमिशन लेने और एग्जाम फॉर्म अप्लाई करने जैसे काम कर सकते हैं।
  • इंटरनेट के माध्यम से हम ऑनलाइन काम करके अच्छी आमदनी कर सकते हैं, साथ ही अधिक लोगों को नौकरी भी दे सकते हैं।

Internet के नुकसान (Disadvantages) क्या है?

  • Internet के जरिये आपका डाटा चोरी हो सकता है क्योकि इस पर साइबर अटेक का खतरा हमेशा मंडराता रहता है।
  • इंटरनेट पर बहुत सी अश्लील वीडियो, इमेजेज होती है जिस से आपके बच्चो के दिमाग पर इसका बुरा प्रभाव पड़ सकता है।
  • इसका उपयोग करके किसी भी गलत वीडियो, फोटो या संदेश को वायरल किया जा सकता है। जो सही नहीं है।
  • Internet का कम समय के लिए उपयोग करना सही है लेकिन अगर आप इसका उपयोग ज्यादा करते है तो आपका बहुत सारा समय बर्बाद हो जाता है।
  • इंटरनेट पर बहुत से ऐसे हैकर्स मौजूद है जो आपके पर्सनल इनफार्मेशन को चोरी कर लेते है। जो की आपके लिए खतरा हो सकता है।
  • इस पर मौजूद कई जानकारियां सही नहीं हैं। कुछ लोग गलत जानकारी साझा करते हैं। जिसके कारण आपको नुकसान भी उठाना पड़ सकता है।
  • आप मुफ्त में Internet का उपयोग नहीं कर सकते। इसका उपयोग करने के लिए धन की आवश्यकता होती है। जिसके कारण आपको पैसो का नुकसान भी होता है।
  • इसके इस्तेमाल से हैकर्स आपके कंप्यूटर में मौजूद डेटा को चुराने के लिए वायरस का सहारा लेते हैं। जिसकी वजह से आपके कंप्यूटर का डाटा खतरे में रहता है।

आपने इंटरनेट के बारे में क्या सीखा?

इस पोस्ट में आपने जाना कि इंटरनेट क्या है? (What is Internet in Hindi) और इसके फायदे और नुकसान क्या है ? और इसके इतिहास के बारे में। इंटरनेट दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क है जो दुनिया के सभी कम्प्यूटर्स को आपस में जोड़े हुए है। इंटरनेट पर ज्ञान का भंडार है।

हमने आपको इंटरनेट के बारे में सामान्य जानकारी उपलब्ध करवाई है। मुझे उम्मीद है की यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी साबित होगी।

यह भी पढ़ें – WhatsApp के लिए खुद की इमोजी कैसे बनाएं ?

About Sonu Singh

Hello friends, I am Sonu Singh, Author & Co-Founder of wekens. Talking about education, I am a graduate. I love to learn and learn about technical news, top story, history. I request you that you keep supporting us in this way and we will continue to provide new information for you. #wekens Team, Digital India, Jai Hind

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.