विश्व बैंक (World Bank) क्या है इसके उद्देश्य और कार्य।

World Bank in Hindi: आपने अक्सर टीवी और न्यूज़ पेपर में विश्व बैंक (World Bank) का नाम अवश्य सुना होगा, यदि आप नहीं जानते है कि वर्ड बैंक क्या है और इसके कार्य क्या है तो इस लेख में हम आपको विश्व बैंक के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे।

इस लेख में हम जानेंगे कि वर्ल्ड बैंक क्या है, वर्ल्ड बैंक की स्थापना कैसे हुई, विश्व बैंक के उद्देश्य, विश्व बैंक के कार्य, और इसकी प्रमुख संस्थाओं के बारे में विस्तार से जानेंगे।

World-Bank-Kya-Hai-Vishwa-Bank-Hindi

आइये जानते है विश्व बैंक क्या है?

विश्व बैंक क्या है (What is World Bank in Hindi)

अनुक्रम दिखाएँ

विश्व बैंक (World Bank) संयुक्तराष्ट्र से जुडी एक अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्था है, जिसकी स्थापना वर्ष 1944 के Bretton Woods Conference अन्तराष्ट्रीय मुद्रा कोष के साथ की गई थी, जिसका मुख्यालय Washington D.C. (U.S.) मे स्थित है। विश्व बैंक का मुख्य उद्देश्य मध्यम और निम्न आये वाले देशों की सरकारों को वितीय ऋण एवं अनुदान प्रदान करना है।

विश्व बैंक की स्थापना शुरुआत मे दुसरे विश्व युद्ध (Second World War) से प्रभावित देशो की वित्तीय सहायता के लिए की गई थी। इसकी स्थापना के साथ ही पहला ऋण वर्ष 1947 मे फ्रांस के लिये तथा वर्ष 1970 के दशक मे इसने विकासशील देशों को ऋण देने पर ध्यान केन्द्रीत किया। इसके बाद वर्ष 1980 के दशक मे गैर-सरकारी संगठन और पर्यावरण संगठन को भी वितीय सहायता प्रदान करने लगा।

वर्तमान मे दुनिया के 189 देश विश्व बैंक के सदस्य है, अगर हम भारत की बात करें तो भारत 1945 में औपनिवेशिक शासन के दौरान वर्ल्ड बैंक के संस्थापक देशो में शामिल था। इसके वर्तमान मे अध्यक्ष “डेविड मलपास” है।

दुनिया के 170 से अधिक देशों मे विश्व बैंक के Staff Member काम कर रहे है। इसके अलावा 130 देशों मे ऑफिस खुले है और इसके साथ में 5 institutions काम कर है जो गरीबी को कम करने और संपन्नता को बढाने का कार्य कर रहे है। 

विश्व बैंक का मूल उद्देश्य अत्यधिक गरीबी को समाप्त करना और अत्यधिक गरीबी मे रहने वाली वैश्विक आबादी के हिस्से को 3 प्रतिशत तक कम करना है। साझा समद्धि को बढ़ावा देने के लिए प्रत्येक देश मे 40% गरीब लोगो की आय को बढ़ाना हैं।

विश्व बैंक के कार्य (Work of the World Bank)

वर्ल्ड बैंक के मुख्य कार्य निम्न है : 

  • वित्त सेवा और उत्पाद सम्बंधित सुविधा उपलब्ध करना है।
  • विश्व बैंक अपने सदस्यों को ऋण की सुविधा प्रदान करता है।
  • वर्ल्ड बैंक विकासशील देशो के अन्दर सरकारी और गैर-सरकारी संस्थाओ में रोजगार के अवसर उपलब्ध करता है।  
  • वर्ल्ड बैंक कार्य पर्यावरण और सामाज में संतुलन स्थापित करना है।  
  • विकाशील देश और गरीब देशो में मानव के दैनिक जीवन में शांति और समृद्धि लाना है।
  • तकनीकी सम्बधित सुचना उपलब्ध करना है।

किसी देश को वर्ल्ड बैंक की सदस्यता कैसे मिलती है?

किसी भी देश को विश्व बैंक की सदस्यता प्राप्त करने के लिए निम्न शर्तों को पूरा करना होता है।

  • वर्ल्ड बैंक का सदस्य बनने के लिए किसी देश को पहले अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) का सदस्य बनाना होगा।
  • IBRD की सदस्यता मिलने के बाद ही IDA, IFC और MIGA की सदस्यता मिलती है।
  • वे देश जो IBRD के सदस्य नहीं हैं, लेकिन पार्टी ऑफ इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) के सदस्य हैं, उन्हें ICSID प्रशासनिक परिषद के निमंत्रण पर उनके सदस्यों के दो-तिहाई वोट द्वारा समर्थन मिलने पर ही सदस्यता प्रदान की जाती है।

वर्ल्ड बैंक के उद्देश्य

  • उपलब्ध कोष से ऋण देना।
  • तकनीकी साहयता उपलब्ध करना।
  • अंतरराष्ट्रीय शांति बनाये रखना।
  • मानवीय विकास के लिए संसाधन उपलब्ध करना।
  • विदेशी विनिमय संकट से बाहर निकलना।
  • गैर-सरकारी संगठनो की सहयता करना।  
  • वित्तीय सहायता देना।

विश्व बैंक की संस्थाएँ (World Bank Institutions)  

  • IBRD (The International Bank for Reconstruction and Development)
  • IDA (The international development association)
  • IFC (The International Finance Corporation)
  • MIGA (The Multilateral Investment Guarantee Agency)
  • ICSID (The International Centre for Settlement of Investment Disputes)

आइये अब इन संस्थान के बारे मे विस्तार से जानते है:-

1. पुनर्निमाण और विकास के लिए अंतरराष्ट्रीय बैंक (International Bank for Reconstruction and Development- IBRD)

IBRD की स्थापना वर्ल्ड बैंक के साथ 1944 की गई थी और इसके वर्त्तमान में 189 देश सदस्य है। यह संस्था गरीब और मध्यम आय वाले देशो को ऋण, गारंटी और अन्य गैर उधार सेवाओ के माध्यम से देशों का विकास करना है। इस संस्था में देशो की सदस्यता आर्थिक शक्ति के आधरित है। यह वित् का प्रबंध अधिकांश वित्तीय बाजारों से करती है।

1959 में इसने AAA रेटिग बनाये रखी है। IBRD और IDA मिलकर World Bank का स्वरूप लेते है, जिससे यह संस्था विकासशील देशों की वित्तीय सहायता, नीति निर्माण और तकनीकी सहायता देना है। यह विश्व बैंक के Operating Expenses को वहन करता है और गरीब देशो की सहायता के लिए IDA को धन प्रदान करता है।    

IBRD की प्रमुख सेवाएं:

  • Country Strategies
  • Products and Services
  • Financing and Management

2. अंतरराष्ट्रीय विकास संघ (The International Development Association: IDA)

IDA की स्थापना वर्ष 1960 में हुई थी और वर्त्तमान में इसके 173 सदस्य है। यह World Bank की वह संस्था जिसका कार्य सबसे गरीब देशो की मदद करना है। इसका मुख्य उद्देश्य 173 देशो के शेयरधारक द्वारा प्रबंधित IDA के उद्देश्य आर्थिक विकास को बढावा देना है तथा देशो में असमानता को कम करना है और लोगो के जीवन स्तर को उच्च करना है।

यह 75 सबसे गरीब देशो में बुनियादी सामजिक सेवाओें को प्रदान करने वाली सबसे बड़ी संस्था है और इसमे 39 अफ्रीका के देश शामिल है। IDA इन देशों को रियायती शर्तो पर ऋण देता है तथा  इन ऋणों का पुनर्भुक्तान 30 से 38 वर्ष तक किया जा सकता है। जिसमे 5 से 10 साल की छुट अवधि भी शामिल है।

इसके अलावा IDA का कार्य सदस्य देशो में समानता, आर्थिक विकास, रोजगार सर्जन, उच्च आय और बेहतर जीवन स्थितियों का निर्माण करना है प्राथमिक शिक्षा, बुनियादी स्वास्थ्य सेवाओं, स्वछता और स्वच्छ पानी, क्रषि, व्यापार जलवायु सुधार बुनियादी ढाचाँ और संस्थागत सुधारो के लिए भी IDA सहायता करता है।

3. अंतरराष्ट्रीय वित्त निगम (International Finance Corporation-IFC)

IFC की स्थापना वर्ष 1956 में 184 सदस्य देशो के स्वमित्व हुई थी। यह विकासशील देशो में निजी क्षेत्र की केन्द्रित सबसे बड़ी वैश्विक विकास संस्था है जो विश्व बैंक के आर्थिक विकास को आगे बढाता है। इस संस्था से जुड़े देशो को यह वित्तीय और इनसे जुड़े अन्य चुनौतियों से उबरने में सहायता करता है।

यह विकासशील देशों में उपस्थित कंपनियों और वित्तीय संस्थानों में रोजगार उपलब्ध करता है। यह आमतौर पर 7 से 12 साल की परिपक्वता वाले व्यवसायों और निजी संस्थान को ऋण देता है और इसके द्वारा किये जाने वाले निवेश पर सामान INTEREST नही होता है।

4. बहुपक्षीय निवेश गारंटी एजेंसी (The Multilateral Investment Guarantee Agency :MIGA)

MIGA की स्थापना 12 अप्रैल 1988 को विश्व बैंक के नये समूह के रूप में की गई थी। इसमें 179 देश शामिल है। MIGA स्थापना क़ानूनी तौर पर अलग और आर्थिक रूप से स्वतंत्र इकाई के रूप में की गई थी। यह संस्था देशो के Non-Commercial जोखिमो के खिलाफ निवेश बीमा करना और विकासशील देशों में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश को बढ़ावा देना है।

जिससे कि आर्थिक विकास में मदद मिल सके और लोगो का जीवन बेहतर बनाया जा सके। यह गारंटी निवेशकों को विकासशील देशों में राजनीतिक व गैर-वाणिज्यिक जोखिमो के खिलाफ प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की रक्षा करने में मदद करता है।

5. निवेश विवादों के निपटारे के लिए अन्तर्राष्ट्रीय केंद्र (International Centre for Settlement of Investment Disputes :ICSID)

ICSID की स्थापना वर्ष 1966 में एक स्वायत्त अन्तर्राष्ट्रीय संस्था के रूप में की गई और ICSID एक Multilateral treaty convention है। इसे विश्व बैंक के कार्यकारी निदेशकों द्वारा तैयार किया गया है जिससे बैंक को निवेश को बढावा देने के उद्देश्य को आगे बढाया जा सके।

कई देशो में इसे International Investment tearty और कई निवेश विवादों के निपटारे के रूप में मंच की मान्यता दी गई है। इसका नेत्रत्व महासचिव द्वारा किया जाता है।

वर्ल्ड बैंक के सदस्य देश कि सूची

वर्ल्ड बैंक के देशो की जानकारी लेने के इस लिंक विजिट करे https://www.worldbank.org/en/about/leadership/members 

Video: Quick Support

वर्ड बैंक से सम्बंधित पूछे जाने वाले अन्य सवाल

वर्ल्ड बैंक का दूसरा नाम क्या है?

विश्व बैंक का दूसरा नाम अन्तर्राष्ट्रीय पुनर्निमाण बैंक और विकास बैंक भी है।  

भारत वर्ल्ड बैंक का सदस्य कब बना?

भारत 1945 में औपनिवेशिक शासन के दौरान वर्ल्ड बैंक के संस्थापक देशो में शामिल हुआ था।  

वर्ल्ड बैंक को पैसा कैसे मिलता है?

विश्व बैंक (World Bank) को अंतरराष्ट्रीय पूंजी बाजार से उधार पैसा मिलता है और वर्ल्ड बैंक के सदस्य देशो द्वारा एक निश्चित मात्रा में धन उपलब्ध कराते है, जिसके बदले में वर्ल्ड बैंक प्राप्त राशि पर ब्याज (Interest) देता है।

वर्ल्ड बैंक का मुख्यालय कहाँ है?

वर्ल्ड बैंक का मुख्यालय Washington D.C. (U.S.) मे स्थित है।

विश्व बैंक का नवीनतम सदस्य देश कौन है?

विश्व बैंक का नवीनतम सदस्य देश Nauru है, जो 12 अप्रैल २०१६ को विश्व बैंक में समूह में शमिल हुआ था।

वर्ल्ड बैंक की स्थापना कब और कहाँ हुई?

वर्ल्ड बैंक की स्थापना वर्ष 1944 के Bretton Woods Conference अन्तराष्ट्रीय मुद्रा कोष के साथ की गई थी, जिसका मुख्यालय Washington D.C. (U.S.) मे स्थित है।

विश्व बैंक में वर्तमान में कितने सदस्य देश शामिल है?

वर्तमान में विश्व बैंक में 189 सदस्य देश शामिल है?

वर्तमान में विश्व बैंक के अध्यक्ष कौन है?

वर्तमान में विश्व बैंक के अध्यक्ष डेविड मालपास है।

विश्व बैंक का पूरा नाम क्या है?

विश्व बैंक का पूरा नाम अन्तरराष्ट्रीय पुनर्निर्माण और विकास बैंक है।

इन्हें भी पढ़ें:

निष्कर्ष: World Bank Kya Hai in Hindi

इस लेख “वर्ल्ड बैंक क्या है” में आपने समझा की विश्व बैंक एक अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संस्था है, जो अपने सदस्य देशो की अपनी आर्थिक प्रगति हेतु वित्तीय सुविधा प्रदान करती है। यदि आपके मन में विश्व बैंक से सम्बंधित अन्य सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में लिख सकते है। हम आपके सवालो जवाब देने का पूर्ण प्रयास करेंगे।

उम्मीद करते है आपको विश्व बैंक क्या है के बारे में पूरी जानकारी मिली होगी, यदि आपको यह लेख पसंद आये तो इस लेख को अपने उन दोस्तों के साथ शेयर करें जो विश्व बैंक के बारे में जानना चाहते है।

 

नमस्ते! मेरा नाम सोनू सिंह है और इस Best Hindi Blog पर अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से Blogging, Earn Money, बैंकिंग, इंटरनेट, टेक्नोलॉजी आदि से संबंधित उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूं। साथ ही मैं WeKens.com का Founder भी हूं। हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद!

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.